Top
Action India

गुरुग्राम: अनिल विज ने की नगर निगम में छापेमारी, गैर हाजिर दो सहायक अभियंता निलंबित

गुरुग्राम: अनिल विज ने की नगर निगम में छापेमारी, गैर हाजिर दो सहायक अभियंता निलंबित
X
  • एक कार्यकारी अभियंता को रिलीव करने के दिए आदेश
  • फर्जी संतुष्टि पत्र पर भुगतान के मामले में एफआईआर दर्ज करने के भी आदेश


गुरुग्राम। एक्शन इंडिया न्यूज़

हरियाणा के गृह एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ने गुरुवार को नगर निगम गुरुग्राम के सेक्टर-34 स्थित कार्यालय में छापेमारी की। करीब दो घंटे तक वे यहां रहे। इस दौरान ड्यूटी से गायब मिले दो सहायक अभियंताओं राकेश शर्मा व कुलदीप यादव को उन्होंने निलंबित करने के आदेश दिए, वहीं एक कार्यकारी अभियंता धर्मबीर मलिक को रिलीव करने को कहा। उनकी इस छापेमारी के दौरान निगम अधिकारियों में हड़कंप मचा रहा। भाजपा कार्यकर्ता तो उनके जयकारे लगा रहे थे।


मंत्री अनिल विज ने स्वयं कर्मचारियों की सीटों के पास जाकर फाइलें खंगाली। कई फाइलों को उन्होंने बैठकर काफी देर तक खंगाला। निगम की अकाउंट एवं इंजीनियरिंग विंग की कार्यप्रणाली देखने के साथ उन्होंने यहां कर्मचारियों से जानकारी भी ली। उन्होंने अकाउंट शाखा के सेक्शन अधिकारी भूपेंद्र सिंह का दो घंटे का वेतन काटने के भी आदेश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि निगम पार्षदों के फर्जी संतुष्टि पत्र पर भुगतान के मामले में एफआईआर दर्ज करवाकर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। मंत्री ने चीफ अकाउंट अधिकारी विजय कुमार की कार्यशैली पर संतुष्टि जताई तथा निगम की आय बढ़ाने के रास्तों पर ध्यान केंद्रित करने के निर्देश भी दिए।


इस छापेमारी के दौरान मंत्री अनिल विज अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट नजर आए। उन्होंने नगर निगम गुरुग्राम के आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा से कहा कि सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का हाजिरी एवं मूवमेंट रजिस्टर होना चाहिए। कर्मचारियों का बेहतर उपयोग होना चाहिए। उन्होंने कहा कि 20 जुलाई को सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों द्वारा किए गए कार्योंं की रिपोर्ट प्रत्येक कर्मचारी के हिसाब से उनके कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें।


छापेमारी के बाद मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत में उन्होंने कहा कि औचक निरीक्षण के दौरान नगर निगम गुरुग्राम की कार्यप्रणाली से वे संतुष्ट नहीं हैं, इसमें बहुत सुधार की आवश्यकता है। इस बारे में उन्होंने निगमायुक्त को निर्देश दिए हैं। साथ ही प्रत्येक कर्मचारी द्वारा 20 जुलाई को किए गए कार्य की रिपोर्ट उनके कार्यालय में भिजवाने के निर्देश दिए हैं। निगम कार्यालय में गृह एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज द्वारा छापेमारी की सूचना से उत्साहित काफी निगम पार्षद व भाजपा कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए। जिस समय अनिल विज कार्यालय में जांच-पड़ताल कर रहे थे, भाजपा कार्यकर्ता निगम कार्यालय के बाहर खड़े होकर 'अनिल विज जिंदाबाद के नारे भी लगा रहे थे। उन्हें इस छापेमारी की बहुत खुशी थी।

Next Story
Share it