Top
Action India

हिसार: हरियाणा के युवाओं को नौकरियों 75 प्रतिशत आरक्षण देने वालों की पोल खुली : अभय चौटाला

हिसार: हरियाणा के युवाओं को नौकरियों 75 प्रतिशत आरक्षण देने वालों की पोल खुली : अभय चौटाला
X

सोरखी गांव में आयोजित किसान सम्मान समारोह में बोले इनेलो प्रधान महासचिव, तीनों कृषि बिल किसान विरोधी

हिसार। एक्शन इंडिया न्यूज़

इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने कहा है कि प्रदेश के युवाओं को नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण देने का दावा करने वालों की पोल खुल गई है। अभी बिजली विभाग में एसडीओ की 99 पदों की भर्तियोंं में केवल 22 युवा ही हरियाणा के हैं बाकी सभी बाहर के हैं। इससे साफ है कि भाजपा-जजपा राज में 75 प्रतिशत आरक्षण प्रदेश से बाहर के लोगों के लिए है।

प्रदेश के युवाओं के लिए तो मात्र 25 प्रतिशत पद ही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा-जजपा सरकार प्रदेश के युवाओं को केवल चपरासी बनाना चाहती है अधिकारी नहीं।अभय सिंह चौटाला सोमवार को जिले के गांव सोरखी में आयोजित किसान सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। सम्मान समारोह में किसानों ने सरपंच वीरेंद्र बेरवाल की अध्यक्षता में अभय सिंह चौटाला को उनके द्वारा किसान आंदोलन के समर्थन में विधायक पद से इस्तीफा देने को लेकर सम्मानित किया गया।

अभय चौटाला ने कहा कि चाहे केंद्र की भाजपा सरकार हो या प्रदेश की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार दोनों को किसानों के हितों को कोई सरोकार नहीं है। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि उनके द्वारा विधायक पद से इस्तीफा देने को लेकर विपक्षी पार्टियों के नेताओं द्वारा कहा जा रहा है कि वो अंगुली कटा कर शहीद होना चाहते हैं और वो अपनी राजनीति चमकाने का प्रयास कर रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि उन्होंने इस्तीफा भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए दिया है जबकि सच्चाई यह है कि मैने केवल किसानों के हित के लिए इस्तीफा दिया। किसानों का आशीर्वाद रहा तो वह फिर विधायक बन जाएंगे।

इस दौरान प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी, राष्ट्रीय संगठन मंत्री एवं पूर्व मंत्री श्याम सिंह राणा, राष्ट्रीय सचिव नरेंद्र प्रजापति, जिला प्रधान सतबीर सिसाय, युद्धवीर आर्य, चत्तर सिंह स्याहड़वा, राजेश गोदारा, राज सिंह मोर, देवीलाल सिहाग, राजकुमार रेड्डू, सतनारायण मंगाली, हनुमान भादू, सुभाष सोरखी, गंगाराम एडवोकेट, अजीत लितानी, कलीराम खेदड़, सतपाल काजला, सुरजीत कड़वासरा व प्रवक्ता रमेश चुघ आदि भी मौजूद रहे।

Next Story
Share it