Action India
अन्य राज्य

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने चिरायु अस्पताल पहुंचकर कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने चिरायु अस्पताल पहुंचकर कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया
X

भोपाल, 01 जून (हि.स.)। मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री नरोत्तम मिश्र ने सोमवार सुबह चिरायु अस्पताल पहुँचकर कोरोना संक्रमण पर जीत हासिल करने वाले 108 लोगों के साथ डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ का सम्मान किया। साथ ही डिस्चार्ज हो रहे मरीजों को किट व बच्चों द्वारा बनाए गए काड्र्स भेंट किए। उन्होंने लोगों से मरीजों से आत्मीयता का व्यवहार करने की अपील की। राजधानी भोपाल का चिरायु अस्पताल देश का पहला स्थल है जहां से अब तक एक हज़ार से अधिक कोरोना संक्रमण के मरीज स्वस्थ हो कर घर लौटे है। साथ ही सोमवार को रिकॉर्ड 108 कोरोना पेशेंट ठीक हो कर घर लौटे है। यह पहला मौका है जब भोपाल में इतनी संख्या में एक साथ कोरोना के पेशेंट अस्पताल से डिस्चार्ज हुए है।

कोरोना योद्धाओं के सम्मान में स्वास्थ्य मंत्री ने चिरायु प्रबंधन को कोरोना से डरने वाले लोगों को प्रोत्साहित करने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि यहां से स्वस्थ होकर जाने वाले लोगों से संपर्क कर उनके कोरोना से लडऩे वाले अनुभवों को दूसरों के साथ साझा करें। उन्होंने कहा जो लोग कोरोना से डर रहे है, उनके बीच कोरोना को हराने वालों के अनुभव पहुंचाए जाए। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले अधिक होने के पीछे कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए मंत्री मिश्रा ने कहा कि पिछली सरकार ने कुछ नहीं किया था अगर इंटेलीजेंस की रिपोर्ट पर कांग्रेस काम कर लेती तो ऐसा नहीं होगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन पद्धति के आधार पर काम करने वाली पद्धति चिरायु अस्पताल ने विकसित की है। इस पद्धति का जिक्र मैंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में भी किया था। वहीं उन्होंने गायों में कोरोना नही फैलने का कारण गोबर को बताया है। उन्होंने कहा गांवों में कोरोना इसलिए नही पहुँचा क्योंकि गाँव में घर के बाहर गोबर से लीपा जाता है, वहीं घर के अंदर जाने से पहले हाथ और पैर धोकर ही जाया जाता है।
कोरोना योद्धाओं को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि, जिस व्यक्ति को कोरोना हो जाता था लोग उससे दूरी बना लेते थे, यह देखकर दुख होता था। उन्होंने कहा कि महामारी पहले भी आती रही है, लेकिन इस बार प्रधानमंत्री मोदी ने हमें लडऩा सिखाया है। लोगों से थाली बजाने को कहा तो उन्होंने थाली बजाकर थाली ही तोड़ दी, दिये जलाने को कहा तो लोगों ने दीवाली बना दी। मंत्री मिश्रा ने कहा कि जनता मजदूरों की सेवा के लिए आगे आ रही है। खुद भूखे रहकर जरूरत मंद को भोजन कराना यही हमारी संस्कृति है।

Next Story
Share it