Top
Action India

अभियान चलाकर जांची स्कूल बसों की सेहत

अभियान चलाकर जांची स्कूल बसों की सेहत
X

मेरठ। एएनएन (Action News Network)

उच्च न्यायालय के निर्देश पर राजकीय आद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान साकेत में रविवार को स्कूली वाहनों की फिटनेस की जांच की गई। जांच में कई स्कूली वाहनों में खामियां मिलीं। जिन्हें परिवहन विभाग के अधिकारियों ने उन्हें दुरुस्त करने के निर्देश दिए। निजी स्कूल के चालकों को वाहनों समेत संस्थान में बुलाया गया था।

संभागीय निरीक्षक प्राविधिक राहुल शर्मा ने बताया कि जिन वाहनों में खामियां पाई गई हैं उनके निस्तारण के लिये विभाग ने वाहन मालिकों को 2-3 दिन का समय दिया है ताकि वह वाहनों को ढीक करा सकें। तय समय सीमा समाप्त होने के बाद अगर बसों में खामियां ज्यों की त्यों मिलती ही तो ऐसी बसों को सड़कों पर दौड़ने नहीं दिया जाएगा।

उन्होंने कहा की कुछ स्कूलों में बच्चों को ले जाने और लाने वाले वाहनों की हालत ठीक नहीं है। आलम यह है कि खटारा स्कूल वाहन मानकों को ताक पर रखकर फर्राटा भर रहे हैं। स्कूली वाहनों में न तो अग्निशमन यंत्र है और न ही जीपीएस सिस्टम। फिटनेस की बात तो दूर की कौड़ी है। यही नहीं अनफिट वाहनों में बच्चों को ठूंस कर भरा जाता है।

Next Story
Share it