Top
Action India

शासन ने आशा व संगिनी के लिए जारी की प्रोत्साहन राशि

शासन ने आशा व संगिनी के लिए जारी की प्रोत्साहन राशि
X

  • कोविड-29 की रोक थाम में रही सराहनीय भूमिका

फर्रुखाबाद । एएनएन (Action News Network)

कोविड-19 अभियान में अपना योगदान दे रहीं जिले की आशा व आशा संगिनी के कार्यों को प्रदेश सरकार द्वारा सराहा गया है। इसके लिए उनको प्रोत्साहन राशि देने का फैसला लिया गया है।
जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक रणविजय सिंह ने बताया कि आशा कार्यकर्ता को प्रतिमाह 1000 रुपये की दर से व संगिनी को 500 रुपये प्रतिमाह की दर से चार माह का भुगतान किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि आशा को प्रतिमाह 1000 रूपये की दर से 57,64000 व आशा संगिनी को 500 रुपये की दर से 1,24,000 रुपये प्रोत्साहन राशि देने के लिए धनराशि का आंवटन किया गया हैं। सभी आशा व आशा संगिनियों को मई माह तक का भुगतान किया जा रहा हैं।

कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम में आशा कार्यकर्ता व आशा संगिनियों की अहम जिम्मेदारी को देखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन-उत्तर प्रदेश के मिशन निदेशक विजय विश्वास पंत ने प्रोत्साहन राशि जारी की है। इसके लिए मिशन निदेशक ने मार्च से लेकर जून तक का बजट भी जारी कर दिया हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. चंद्रशेखर ने बताया कि जनपद में इस समय 1350 आशा कार्यकर्ता 79 अर्बन आशा कार्यकर्ता व 62 आशा संगिनी कार्यरत हैं।

जो अपने-अपने क्षेत्रों में लगातार सेवाएं पहुंचाने का कार्य कर रही हैं। वह घर-घर जाकर दूसरे प्रदेश से आए मजदूरों का सर्वे कार्य कर रही है। स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही उनको कोरोना वायरस से भी जागरूक करने का कार्य कर रही है। उनको बता रही हैं कि कोरोना से कैसे बचा जाए। अगर घर से बाहर जाएं तो मास्क व ग्लब्स अवश्य पहनें।

किसी से भी एक मीटर की दूरी से ही बात करें और बहुत जरूरी हो तभी घर से बाहर जाएं। हाथ को एक-एक घंटे पर साबुन-पानी से धुलें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में निगरानी समिति के सदस्य के रूप में वह अहम भूमिका निभा रही हैं। प्रवासी व्यक्तियों तथा उनके परिवार के किसी भी सदस्य में कोरोना के एक भी लक्षण दिखाई देने पर वह प्रभारी चिकित्साधिकारी को अवगत कराती हैं।

Next Story
Share it