Select Page

ठंड के आगोश में हिमाचल, आठ शहरों का पारा माइनस पहुंचा

ठंड के आगोश में हिमाचल, आठ शहरों का पारा माइनस पहुंचा

शिमला। टीम एक्शन इंडिया

हिमाचल प्रदेश में पिछले दिनों हुए हिमपात के बाद कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पूरा प्रदेश ठंड की जबरदस्त चपेट में है। राज्य के अधिकतर क्षेत्रों का पारा जमाव बिंदू से नीचे पहुंच गया है। केलांग में बीती रात न्यूनतम तापमान -11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

राज्य के पहाड़ी इलाकों से लेकर मैदानी भागों तक कंपकंपाती ठंड से सामान्य जनजीवन प्रभावित है। जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलांग में सोमवार की रात न्यूनतम तापमान -11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सर्दियों के इस मौसम में केलांग में पहली बार तापमान इस स्तर तक पहुंचा है।

मौसम विभाग की दैनिक रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के आठ शहरों का न्यूनतम तापमान माइनस और सात शहरों का शून्य के बेहद करीब दर्ज किया गया। कुकुमसेरी में न्यूनतम तापमान-7.2 डिग्री, कल्पा में -4.6 डिग्री, मनाली में -2.2 डिग्री, रिकांगपिओ में -1.9 डिग्री, सियोबाग में -1.2 डिग्री, नारकंडा में -1.1 डिग्री और कुफरी में -0.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ है।

इसके अलावा सराहन में न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री, सुंदरनगर व भुंतर में 0.1 उिग्री, ऊना में 0.5 डिग्री, शिमला में 0.6 डिग्री और हमीरपुर में 0.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। अन्य शहरों के तापमान पर नजर डालें तो पालमपुर में 1 डिग्री, डल्हौजी व बरठीं में 1.2 डिग्री, सोलन में 1.8 डिग्री, धर्मशाला में 2.2 डिग्री, चंबा में 2.3 डिग्री, जुब्बड़हटटी में 2.4 डिग्री और कांगड़ा में 3 डिग्री सेल्सियस रहा।

राजधानी शिमला व आसपास के क्षेत्रों में मंगलवार की सुबह जहां धूप खिली हुई है, वहीं मैदानी भागों में घना कोहरा छाया है। बिलासपुर, हमीरपुर, ऊना व कांगड़ा जिलों के अधिकांश इलाकों में 50 से 100 मीटर तक ही विजिबिलिटी रह रही है। आलम यह है कि कोहरे की वजह से वाहन चालकों को लाइटें जलाकर आवागमन करना पड़ रहा है। राज्य के जनजातीय क्षेत्रों में ठंड के प्रकोप से झीलों, झरनों व नालों समेत प्राकृतिक जलस्त्रोतों का पानी जम गया है। इन इलाकों के निवासियों को पानी की किल्लत से जूझना पड़ रहा है।

मौसम विभाग के अनुसार ठंड का प्रकोप अगले कुछ दिनों तक जारी रहेगा। विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि प्रदेश में बुधवार यानी 18 जनवरी से पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना है। जिसके असर से मौसम का मिजाज बिगड़ेगा। राज्य के पर्वतीय इलाकों में 18 से 21 जनवरी तक बर्फबारी होने के आसार हैं।

Advertisement

Advertisement