Action India
हिमाचल प्रदेश

शिमला में फिर हिमपात, जनजीवन प्रभावित

शिमला में फिर हिमपात, जनजीवन प्रभावित
X
  • नहीं हो पाई दूध, ब्रेड और सब्जी की आपूर्ति

शिमला। एक्शन इंडिया न्यूज़


पहाड़ों की रानी शिमला में रविवार देर रात एक बार फिर हिमपात हुआ और पूरा शहर बर्फ की सफेद चादर से ढक गया। शीतकाल के दौरान यह शहर में दूसरी बर्फबारी है। पर्यटन के साथ फसलों और जल संचयन के लिए इसे बेहतर माना जाता है। हालांकि, अधिक बर्फबारी से अब जनजीवन पर भी प्रभाव पड़ने लगा है।

राजधानी में बीते तीन दिनों से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ था। शनिवार रात को भी यहां बर्फबारी हुई थी। रविवार मध्यरात्रि शहर में फिर बर्फबारी शुरू हो गई। सुबह जब लोगों की आंख खुली तो समूचा शहर बर्फ की चादर ओढ़े हुए था। शिमला में लगभग आधा फुट के करीब बर्फ दर्ज की गई है।

इस भारी हिमपात से शहर में जनजीवन प्रभावित हुआ है। शहर की सड़कों के बर्फ से जमने के कारण लोगों को दूध, ब्रेड और सब्जी जैसी मूलभूत चीजों से महरूम रहना पड़ा। शहर की मुख्य व अंदरूनी सड़कों पर यातायात ठप है। संजौली, लक्कड़ बाजार, छोटा शिमला संजौली और बस स्टैंड मार्ग पर बसें नहीं चलने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। साथ ही कई वार्डों में बिजली की आपूर्ति भी चरमरा गई है। वैसे, जिला व नगर निगम प्रशासन द्वारा सड़कों का बहाली कार्य प्रगति पर है।

शिमला जिले के ऊपरी क्षेत्रों में भी भारी हिमपात के कारण अनेक सड़कों का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। भारी हिमपात के कारण रामपुर-शिमला नेशनल हाईवे-पांच यातायात के लिए बंद हो गया है।

इस बीच ताजा बर्फबारी ने शिमला के पर्यटन को पंख लगा दिए हैं। बर्फबारी देख शिमला पहुंचे सैलानी काफी उत्साहित हुए। सोमवार सुबह शिमला में लोग सोकर उठे तो हैरान रह गए कि पूरा शहर सफेद चांदी से सराबोर हो गया था। सड़कों, घरों, वाहनों, रास्तों, पेडों व टहनियों पर बर्फ का नजारा देखकर सैलानियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। सैलानियों ने रिज मैदान, माल रोड सहित जगह-जगह बर्फ से खेलने का का खूब लुत्फ उठाया। बर्फबारी के दीदार के लिए भारी संख्या में पर्यटक शिमला का रुख कर रहे हैं।

उधर, राज्य के अन्य पर्वतीय जिलों में भी भारी हिमपात हुआ है। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक चंबा के भरमौर और शिमला के खदराला में 60-60 सेंटीमीटर बर्फबारी हुई है। इसी तरह लाहौल-स्पीति के गोंदला में 40 और कुल्लू जिला के मनाली में 37 सेंटीमीटर बर्फबारी हुई। इसके अलावा सोलन के धर्मपुर में 73 मिमी, तो सोलन में 71 और जुब्बड़हट्टी में 59 मिमी बारिश हुई है।

बारिश-बर्फबारी की वजह से पूरा प्रदेश भीषण सर्दी की चपेट में है। बीती रात छह शहरों का पारा माइनस में दर्ज किया गया। लाहौल-स्पीति के केलांग में न्यूनतम तापमान -6.2 डिग्री, किन्नौर के कल्पा में -3.8 डिग्री, कुफरी में -3.2 डिग्री, डल्हौजी में -2.1 डिग्री, मनाली में -0.4 डिग्री और शिमला में -0.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में राज्य के निचले व मैदानी इलाकों में बारिश और मध्य पर्वतीय व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी की संभावना जताई है। 12 जनवरी को पूरे प्रदेश में मौसम के साफ रहने का अनुमान है।

Next Story
Share it