Top
Action India

हिमाचल में मंत्रिमण्‍डल विस्‍तार भाजपा हाईकमान से चर्चा के बाद : जय राम ठाकुर

शिमला । एएनएन (Action News Network)

हिमाचल सरकार में लंबे समय से खाली चल रहे मंत्री पद भरने के लिए हाईकमान की हरी झंडी का इंतजार है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कैबिनेट विस्तार की अभी जल्दी नहीं है। सरकार का मुख्य फोकस कोरोना के खिलाफ लड़ाई पर है। गुरूवार को मीडिया से रू-ब-रु हुए सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि कैबिनेट विस्तार को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह की बातें चलती रहती हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार में मंत्रियों के तीन पद खाली हैं। ये सारी वस्तुस्थिति पार्टी हाईकमान के समक्ष रखी है। जैसे ही उपयुक्त समय आएगा और हाईकमान इस बारे में हमसे चर्चा करेगी, सारी बातें सामने आ जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये समय वायरस से लडऩे का है। समय आने पर मंत्रिमंडल में खाली तीन जगह भी भर दी जाएंगी। उल्लेखनीय है कि हिमाचल सरकार में इस समय आठ मंत्री हैं। तीन पद खाली हैं। विपिन सिंह परमार स्वास्थ्य मंत्री से विधानसभा अध्यक्ष बनाए गए थे। इससे पहले किशन कपूर सांसद बने और उनका पद खाली हुआ। फिर अनिल शर्मा को उर्जा मंत्री पद गंवाना पड़ा, क्योंकि उनके बेटे आश्रय शर्मा ने भाजपा के खिलाफ कांग्रेस टिकट पर चुनाव लड़ा था।

एक बार फिर से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने संकेत दिया है कि उन्हें कैबिनेट विस्तार की कोई जल्दबाजी नहीं है। हाईकमान की हरी झंडी के बाद ही फैसला होगा। इस समय मंत्री पद के तलबगार नेता घोषणा के इंतजार में हैं। मंत्री पद की रेस में राकेश पठानिया का नाम काफी समय से चर्चा में है। इसी तरह रमेश ध्वाला और सुखराम चौधरी भी कतार में हैं। चंबा से किसी को प्रतिनिधित्व जरूर मिलना चाहिए, इस तरह की चर्चा चल रही है। ऐसे में विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज का नाम भी लिया जा रहा है। महिला नेता की सूची में कमलेश कुमारी के भी मंत्री बनने की दावेदारी जताने की चर्चा है।

Next Story
Share it