Top
Action India

20 प्रतिशत अधिक लंबी होगी मानव श्रृंखला, पांचवीं कक्षातक के बच्चे नहीं होंगे शामिल

बेगूसराय। एएनएन (Action News Network)

जल, जीवन और हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह समाप्ति एवं दहेज उन्मूलन विषय पर 19 जनवरी को बनाई जाने वाली मानव श्रृंखला की जोरदार तैयारी की जा रही है। 16 हजार दो सौ किलोमीटर की बनने वाली इस मानव श्रृंखला के माध्यम से एक जिला दूसरे जिला से जुड़ते हुए गांधी मैदान पटना से जुड़ जाएगा। बेगूसराय में इसके लिए 324 किलोमीटर का लक्ष्य तय किया गया है।

मानव श्रृंखला के संबंध में तैयारी समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने डीएम एवं एसपी को 14 बिंदुओं पर मार्गदर्शन भेजा है तथा इसी के आधार पर तैयारी की जा रही है। 2018 में बनाई गई मानव श्रृंखला की दूरी में सभी जिलो में 20 प्रतिशत अतिरिक्त लंबाई जोडी गयी है। इसके तहत 19 जनवरी को 11:30 बजे से 12:00 बजे तक लोग आपस में हाथ मिलाकर खड़े रहेंगे।

मानव श्रृंखला के कार्य योजना एवं कार्यान्वयन की जवाबदेही संयुक्त रूप से डीएम एवं एसपी को दी गई है। जिले के सभी वार्ड सदस्य, मुखिया, पंचायत समिति सदस्य एवं जिला परिषद अपने-अपने क्षेत्र में नेतृत्व करेंगे। शिक्षा विभाग द्वारा इस साल मानव श्रृंखला में प्रथम से पांचवीं कक्षा तक के बच्चों को शामिल नहीं करने का विशेष निर्देश दिया गया है।

पांचवीं कक्षा से ऊपर के ही बच्चे इसमें शामिल होंगे। जिला स्तर के सभी विभागों के सरकारी एवं संविदा कर्मी, सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालय मध्य विद्यालय, उच्च विद्यालय, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, महाविद्यालय के शिक्षक, छात्र-छात्रा, जीविका दीदी, आशा देवी, आंगनवाड़ी सेविका एवं सहायिका की पूर्ण भागीदारी होगी। जीविका एवं मुख्यमंत्री अक्षर आंचल योजना से जुड़े शिक्षा सेवक, तालिमी मरकज मानव श्रृंखला के लिए प्रचार-प्रसार में लगकर भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।

सभी विभागों के वाहन, एंबुलेंस, पीएचडी विभाग का पानी टैंकर समेत तमाम अन्य विभागों के संसाधन डीएम के अनुसार मानव श्रृंखला में लगाए जाएंगे तथा मानव संसाधन का पूर्ण उपयोग किया जाएगा। सेक्टर वाइज ट्रैफिक की व्यवस्था की जा रही है। मानव श्रृंखला में समाज के सभी लोगो की भागीदारी के लिए डीएम को नवाचारी गतिविधियों की योजना बनाने का निर्देश दिया गया है।

डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि प्रदेश मुख्यालय से प्राप्त निर्देश के अनुसार मानव श्रृंखला में अधिकाधिक भागीदारी के लिए जागरूकता कार्यक्रम का निर्देश दिया जा रहा है। लक्ष्य के अनुरूप मानव श्रृंखला का आयोजन होगा। ताकि आमजन जल, जीवन और हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह समाप्ति एवं दहेज उन्मूलन के लिए जागरूक हो सकें।

Next Story
Share it