Action India
अन्य राज्य

गांव में नवम वर्ग की पढ़ाई के लिए सैकड़ों छात्र-छात्राएं उतरे सड़क पर

गांव में नवम वर्ग की पढ़ाई के लिए सैकड़ों छात्र-छात्राएं उतरे सड़क पर
X

बेगूसराय । एएनएन (Action News Network)

नवम वर्ग के पढ़ाई की स्वीकृति मिलने के बाद उस आदेश को रद्द‌ कर दिए जाने से बेगूसराय में गुरुवार को सैकड़ों छात्र-छात्राएं मास्क लगाकर सड़क पर उतर आई हैं। वे सब सड़क पर दरी लगाकर शारीरिक दूरी का अनुपालन करते हुए बैठ गए, जिससे राजकीय राजमार्ग- 55 पर यातायात घंटों ठप रहा।

मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र के उत्क्रमित मध्य विद्यालय हरदिया के समीप का है। सड़क पर बैठी छात्र-छात्राओं का कहना है कि यहां हाई स्कूल का अनुमति और कोड मिल चुका था। 30 मई को जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय द्वारा नवम वर्ग की पढ़ाई के लिए के लिए तीन शिक्षकों को प्रतिनियुक्त कर दिया गया।

देशव्यापी बंदी के बाद विद्यालय खुलते ही पढ़ाई शुरू होनी थी लेकिन अब हरदिया के बदले कंकौल स्कूल में नवम की पढ़ाई होगी।यह हमलोगों के साथ यह अन्याय है। विद्यालय में करीब चार सौ छात्र-छात्राएं पढ़ाई करती हैं, अगर कंकौल जाना पड़ेगा तो काफी मुश्किल है।सड़क पर रोज दुर्घटना होती है।

सड़क जाम की सूचना मिलते ही पहुंचे बीडीओ और मुफस्सिल थाने की पुलिस ने छात्रों को काफी समझाया बुझाया ।इसके बाद सदर एसडीओ संजीव कुमार चौधरी की पहलपर मामला शांत हो सका। 22 जून को पांच सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल एवं अधिकारियों के साथ सदर एसडीओ कार्यालय में मामले का समाधान किया जाएगा।

बच्चों के साथ सड़क जाम कर बैठे अभिभावक सरपंच प्रतिनिधि मोहम्मद आजाद, उपसरपंच मोहम्मद नइमउद्दीन, मोहम्मद आजमी, हसन इमाम, तौकीर आलम आदि का कहना था कि राजनीतिक दुर्भावना के तहत हमारे बच्चों को पढ़ाई से दूर रखने की साजिश रची गई है।

पढ़ाई प्रारंभ करने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद ऐसा क्या हो गया कि आदेश वापस लिया जा रहा है। यहां पहले से ही उत्क्रमित मध्य विद्यालय है, हाई स्कूल बनने की अनुमति दे दी गयी तो फिर यहां से स्कूल उठाकर कंकौल क्यों ले जाया जा रहा है।

Next Story
Share it