Top
Action India

अगर आप भी मुकेश अंबानी के यहा जाॅब करना चाहते है तो, ऐसे होती है नियुक्ति, 2 लाख महिना

अगर आप भी मुकेश अंबानी के यहा जाॅब करना चाहते है तो, ऐसे होती है नियुक्ति, 2 लाख महिना
X

दोस्तो आज महंगाई के इस दौर में हर कोई अमीर बनना चाहता है और फिर एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी का फोर्ब्स मैगजीन की लिस्ट में दुनियाभर के अरबपतियों में 13वां स्थान है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि मुकेश अंबानी के ड्राइवर की सैलरी कितनी है और उसका चयन कैसे होता है? मुकेश अंबानी के ड्राइवर की सैलरी तो बहुत ज्यादा है लेकिन वहां तक पहुंचना हर किसी के बस की बात नहीं है।

तनी ज्यादा है अंबानी के ड्राइवर की सैलरी

अब आप ये सोच रहे होंगे कि इतनी कठिन परीक्षाओं का सामना करने के बाद जो ड्राइवर नियुक्त किया जाता है और तो उसकी सैलरी कितनी होगी दोस्तो अंबानी के ड्राइवर की सैलरी हजारों में नहीं बल्कि लाखों में है। मुकेश अंबानी के ड्राइवर को प्रति माह 2 लाख रुपये दिए जाते हैं। सालाना हिसाब से देखें तो मुकेश अंबानी के ड्राइवर को एक साल में 24 लाख रुपये मिलते हैं। उल्लेखनीय है कि एक अनुमान के मुताबिक अंबानी ने अपनी बेटी ईशा की शादी में करीब 720 करोड़ रुपये खर्च किए थे और फिर इतना ही नहीं, अंबानी का घर एंटीलिया दुनिया के सबसे महंगे घरों में से एक है। इसलिए ड्राइवर को दो लाख रुपये प्रति माह देना अंबानी के लिए कोई बड़ी बात नहीं है।

ऐसे होती है ड्राइवर की नियुक्ति

सबसे अमीर एशियाई के ड्राइवर का चयन विधिवत तरीके से किया जाता है और फिर अंबानी ड्राइवर का चयन करने के लिए प्राइवेट कंपनियों को कांट्रैक्ट देते हैं। इन कंपनियों को ड्राइवर के चयन की पूरी जिम्मेदारी दी जाती है। लेकिन सबसे पहले इस बात की पूरी जांच की जाती है कि कहीं चयनित ड्राइवर का कोई क्रिमिनल बैकग्राउंड तो नहीं है और यह कंपनियां ड्राइवर को ट्रेनिंग देती हैं, जिसके बाद ड्राइवर को कईं तरह की कठिन परीक्षाओं का सामना करना पड़ता है। इस पूरी प्रक्रिया के बाद जाकर किसी ड्राइवर को नियुक्त किया जाता है।

ऐसे होती है ड्राइवर की नियुक्ति

सबसे अमीर एशियाई के ड्राइवर का चयन विधिवत तरीके से किया जाता है और फिर अंबानी ड्राइवर का चयन करने के लिए प्राइवेट कंपनियों को कांट्रैक्ट देते हैं। इन कंपनियों को ड्राइवर के चयन की पूरी जिम्मेदारी दी जाती है। लेकिन सबसे पहले इस बात की पूरी जांच की जाती है कि कहीं चयनित ड्राइवर का कोई क्रिमिनल बैकग्राउंड तो नहीं है और यह कंपनियां ड्राइवर को ट्रेनिंग देती हैं, जिसके बाद ड्राइवर को कईं तरह की कठिन परीक्षाओं का सामना करना पड़ता है। इस पूरी प्रक्रिया के बाद जाकर किसी ड्राइवर को नियुक्त किया जाता है।

ये है अंबानी की रणनीति

देश में सबसे ज्यादा ग्राहक संख्या वाली अमेजन को टक्कर देने के लिए मुकेश अंबानी ने विशेष रणनीति बनाई है और फिर मुकेश अंबानी ने पिछले दो वर्षों में छोटी-छोटी करीब 26 कंपनियों में हिस्सेदारी खरीद अपनी रणनीति पर अमल करना शुरू कर दिया है और फिर अंबानी दो वर्षों में 17.41 हजार करोड़ का निवेश भी कर चुके हैं।

Next Story
Share it