Top
Action India

असम चुनावः चाय की सुगंध लोगों को इस घाटी की ओर करती आकर्षित : योगी आदित्यनाथ

असम चुनावः चाय की सुगंध लोगों को इस घाटी की ओर करती आकर्षित : योगी आदित्यनाथ
X


  • -प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वोत्तर की तस्वीर बदल दी: मुख्यमंत्री
  • -कांग्रेस ने असम को क्षेत्र के आधार पर बांटा

कछार (असम)। एक्शन इंडिया न्यूज़

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कछार जिला के उदारबंद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत रंगाली बिहू की शुभकामना देते हुए की। उन्होंने कहाकि बराक घाटी की पहचान यहां से निकलने वाली नदियाें और यहां के चाय बागान हैं, जिसने देश और दुनिया में अपनी पहचान बनायी है। यहां की चाय की सुगंध लोगों को इस घाटी की ओर आकर्षित करती है। उन्होंने कहाकि इस पहचान को बनाने वाले उन सभी कर्मयोगियों का मैं अभिनंदन करता हूं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज असम में तीन चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने पहुंचे थे। उन्होंने उदारबंद में अपनी पहली जनसभा में कहाकि गत पांच वर्षों में असम नई ऊंचाइयों को छू पाया है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा पर जनता के विश्वास के कारण संभव हो पाया है। कहाकि असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के नेतृत्व में असम को एक नई पहचान मिली है। पांच वर्ष पहले असम के अंदर विकास की चर्चा नहीं होती थी।

उन्होंने कहाकि असम को क्षेत्र के आधार पर बांटकर रखा गया था। कहीं बोड़ोलैंड की समस्या, कहीं घुसपैठ की समस्या, कहीं सत्ता प्रायोजित अलगाववाद था तो कहीं पर ऊपरी असम और निचले असम के रूप में बटवारा करके रखा था जिसके चलते असम का विकास बाधित रहा लेकिन प्रधानमंत्री ने लुक ईस्ट नीति को एक्ट ईस्ट में बदलकर पूर्वोत्तर राज्यों की तस्वीर बदल दिया। असम में अब अलगाववाद, घुसपैठ नहीं है। श्रीमंत शंकरदेव की भूमि पर घुसपैठियों ने कब्जा कर लिया था लेकिन सोनोवाल की सरकार बनने के बाद घुसपैठियों को बाहर निकाला गया है। अलगाववाद की समस्या का समाधान हुआ है।

उन्होंने कहाकि पहले असम में कई-कई महीनों तक बंद, बम विस्फोट, हिंसा, आतंकवाद का भय रहता था। लेकिन अब असम में शांति है, राज्य नई ऊंचाइयों को छू रहा है। असम के प्रत्येक नागरिक को आवास, राशन की सुविधा, स्वास्थ्य बीमा, शौचालय समेत अन्य कार्य भाजपा की सोनोवाल नेतृत्वाधीन सरकार ने दिया है। भाजपा सरकार के कार्यकाल में सभी का समान विकास हुआ। किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं हुआ। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों की मजदूरी को कभी नहीं बढ़ाया लेकिन सोनोवाल सरकार ने इसे बढ़ाया और आने वाले दिनों में 350 रुपये किया जाएगा। चाय श्रमिकों को साथ जोड़कर उन्हें आगे बढ़ाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहाकि असम में केंद्रीय संस्थान, एम्स, पुल, सड़क, चिकित्सा महाविद्यालय आदि के साथ ही खेलों इंडिया जैसे कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं जिससे यहां के लोगों में आत्मविश्वास पैदा हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में नारा दिया था कि हम देश में विकास करेंगे, बिना भेदभाव के साथ। उसी मंत्र के आधार पर सभी का समान विकास हो रहा है। देश के 135 करोड़ लोगों के जीवन में व्यापक बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा असम के चाय बागान के साथ ही अन्य क्षेत्रों की महिलाओं का जनधन अकाउंट खोला गया। उसमें मोदी सरकार ने पैसे भी दिए। लॉकडाउन के दौरान मुफ्त राशन, मुफ्त सिलिंडर, पेंशन समेत आत्मनिर्भर भारत के लिए कई कार्य किये गये हैं। केंद्र में मोदी और असम में सोनोवाल के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने लगातार सबके लिए समान कार्य कर रही है। भाजपा जो कहती है, वह करके दिखाती है।

कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए कहाकि कांग्रेस का एआईयूडीएफ के साथ समझौता यह साबित करता है कि असम में घुसपैठ कराकर अलगाववाद का बीज बोना चाहती है। पूर्वोत्तर में आज खुशहाली है। बराक वैली से मणिपुर, त्रिपुरा, मेघालय व बांग्लादेश से सीमाएं लगती हैं। ऐसे क्षेत्र को सभी के साथ जोड़कर विकास को आगे बढ़ाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत का शौर्य अब पूरे विश्व में दिखाई दे रहा है। भारत अब आतंकवादियों पर पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक व एयर स्ट्राइक करने में विश्वास करता है। अयोध्या के राम मंदिर का भी जिक्र करते हुए कहा कि असम से समर्पण अभियान में बड़ा योगदान दिया है। राम मंदिर भारत की पहचान है। वह राष्ट्र का मंदिर है। भाजपा एक-एक करके सभी समस्याओं का समाधान करती जा रही है। उन्होंने कहा कि असम के अंदर घुसपैठ की समस्या का पूरी तरह से समाधान करेंगे। असम की बाढ़ की समस्या का समाधान कर चाय बागान को विकसित करने का कार्य किया जाएगा।

उन्होंने कहाकि यह चुनाव सिर्फ सत्ता प्राप्त करने का नहीं है बल्कि हमारी सत्ता की पहचान को बचाए रखने का है। असम की पहचान, कामाख्या, मंदिर, चाय बागान, बराक घाटी से है। ऐसी पहचान को अनवरत आगे बढ़ाने के लिए भाजपा असम में फिर से आवश्यक है। असम में फिर से भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहाकि यहां पर डबल इंजन की सरकार जरूरी है। जय श्रीराम के नारों के साथ उन्होंने अपना संबोधन समाप्त किया।

इस मौके पर सांसद राजदीव राय, विधायक व उम्मीदवार मिहिर कांति शोम समेत काफी संख्या में भाजपा के वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता व भारी संख्या में समर्थक उपस्थित थे।

Next Story
Share it