Action India

वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर चौथी बार बना नंबर वन ...

वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर चौथी बार बना नंबर वन ...
X

  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इंदौरवासियों को दी बधाई

  • भोपाल को 7वां स्थान, ग्वालियर-जबलपुर भी टॉप-20 में

भोपाल । Action India News

केंद्र सरकार द्वारा गुरुवार को स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के नतीजे घोषित किए गए। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर को देश का सर्वश्रेष्ठ स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। इंदौर ने लगातार चौथी बार यह उपलब्धि हासिल की है।

इसके साथ ही मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल देश का सातवां स्वच्छ शहर बन गया है। इसके अलावा मप्र के ग्वालियर और जबलपुर शहर ने भी स्वच्छ शहरों की टॉप-20 सूची में अपनी जगह बनाई है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के लगातार चौथी बार देश के स्वच्छ शहर चुने जाने पर इंदौरवासियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि -'आज मध्यप्रदेश के लिए गर्व और प्रसन्नता का क्षण हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में देश के सबसे स्वच्छ शहर में प्रथम स्थान के सम्मान के लिए इंदौरवासियों, अधिकारियों एवं स्वच्छता योद्धाओं को बधाई। इस प्रोत्साहन और सम्मान के लिए यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का हृदय से आभार।' मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी के प्रति भी आभार व्यक्त किया है।’

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी द्वारा गुरुवार को स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणाम घोषित किये गये। मप्र का इंदौर शहर लगातार चौथी बार देश का सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है। वहीं, दूसरे नंबर पर गुजरात का सूरत और तीसरे नंबर पर नवी मुंबई रहा। स्वच्छता के मामले में इंदौर लगातार तीन साल (2017, 2018, 2019) तक शीर्ष स्थान पर रहा और अब चौथी बार भी देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है।

मध्य प्रदेश के अन्य तीनों महानगर भी स्वच्छता सर्वेक्षण की टॉप-20 सूची में जगह बनाने में सफल रहे। भोपाल इस सूची में सातवें नम्बर पर है, जबकि ग्वालियर 13वें और जबलपुर 17वें स्थान पर रहा। राजधानी भोपाल की बात करें तो पिछले साल यह देश के स्वच्छ शहरों में 19वें नम्बर पर था।

इस बार भोपाल की रैंकिंग के जबरदस्त सुधार हुआ और यह देश का सातवां सबसे स्वच्छ शहर बन गया। ग्वालियर शहर इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण में 46 अंकों की छलांग लगाकर 59 से 13वें नम्बर पर पहुंचा है। वहीं, जबलपुर भी टॉप-20 स्वच्छ शहरों में जगह बनाने में सफल रहा।

Next Story
Share it