Top
Action India

जिले की 115 औद्योगिक इकाइयों को शर्तों के साथ काम करने की अनुमति

जिले की 115 औद्योगिक इकाइयों को शर्तों के साथ काम करने की अनुमति
X

हल्द्वानी । एएनएन (Action News Network)

जिलाधिकारी सविन बंसल ने उद्यमियों के साथ बैठक में कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम के लिए लागू लाॅकडाउन के बीच जनपद में 113 औद्योगिक इकाइयों को कुछ शर्तों के संचालित करने की अनुमति देने की घोषणा की है। गुरुवार को कैम्प कार्यालय में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि मैन्यूफैक्चरिंग उद्योगों को शर्तो के साथ विनिर्माण प्रारम्भ करने की अनुमति दी जायेगी। उद्यमी ऑनलाइन इन्वेस्ट उत्तराखण्ड की वेबसाइट पर आवेदन करें। जिलाधिकारी बंसल ने उद्यमियों से कहा कि उद्योग संचालन के दौरान कम से कम श्रमिक ही रखें, श्रमिकों की रहने की व्यवस्था उद्योगाें में ही करें। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के कार्य के दौरान पर्याप्त सामाजिक दूरी मानकों के अनुसार ही मास्क पहनकर ही कार्य करेंगे।

उचित सेनेटाइजर, हाथ धोने की व्यवस्था उद्यमियों द्वारा की जायेगी। उन्होंने कहा कि उद्यमी समय-समय पर श्रमिकों व कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही नियमित सफाई व्यवस्था अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करायेंगे।बैठक में हिमालय चैम्बर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष आरसी बिंजौला ने कहा कि उद्योगों में मशीनों की मैन्टिनेंस (मरम्मत) के लिए स्पेयर पार्ट्स की जरूरत पड़ती है, जो रूद्रपुर से आते हैं। उन्होंने स्पेयर पार्ट्स रूद्रपुर से लाने के पास जारी करने का अनुरोध किया। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि स्पेयर पार्ट्स लाने के लिए पास जारी किये जायेंगे।

बिंजौला ने कमलुवागांजा में स्थित उनके औेद्योगिक संस्थान के श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण के लिए चिकित्सकीय टीम उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ टीके टम्टा को स्वास्थ्य परीक्षण कराने की व्यवस्था कराने निर्देश दिये। उद्यमी सचिन अग्रवाल ने नयागांव स्थित आटा व चावल मिल काे संचालन में कुछ असामाजिक तत्वोें के परेशान करने की शिकायत की। जिलाधिकारी ने सम्बन्धितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने को कहा।जिलाधिकारी बंसल ने कहा कि धीरे-धीरे जनपद में सभी प्रकार के औद्योगिक संस्थानों व ग्रामीण उद्योगों व डीलरों की दुकानों को खोलने की व्यवस्था की जायेगी।

बैठक में महाप्रबन्धक उद्योग विपिन कुमार ने बताया कि जनपद में 115 उद्योग इकाइयों को सशर्त खोलने की अनुमति प्रदान कर दी गई है। जिनमें फ्रूट की 33, पैकेजिंग की 32, सोप स्टोन की 26, पीपीई/सेनिटाइजर की 07, फार्मा, हर्बल की 07, आटोपार्ट्स की 04, डाटा प्रोसेसिंग की 02 व अन्य 04 को संचालित की स्वीकृति प्रदान की है। बैठक में ड्रग निरीक्षक मीनाक्षी बिष्ट, सचिव मनोज डागा, कमल पाण्डे, चन्द्रशेखर के अलावा फार्मा, ऑटोपार्टस इन्डस्ट्रीज के उद्यमी मौजूद थे।

Next Story
Share it