Top
Action India

शिक्षा एवं स्वास्थ्य में पैसा कमाना नहीं, सेवा करना हो उद्देश्य : मुख्यमंत्री

शिक्षा एवं स्वास्थ्य में पैसा कमाना नहीं, सेवा करना हो उद्देश्य : मुख्यमंत्री
X

जयपुर। एएनएन (Action News Network)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य दो ऐसी सेवाएं हैं, जिनमें पैसा कमाना नहीं बल्कि सेवा करना उद्देश्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि दोनों क्षेत्रों में नो प्रोफिट-नो लॉस की भावना के साथ कार्य करते हुए आमजन को राहत पहुंचाने के लिए सभी को आगे आना होगा।

गहलोत सोमवार को दो दिवसीय ‘उच्च एवं तकनीकी शिक्षा एवं एचआर कॉन्क्लेव के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज संचालकों को गरीब एवं सुविधाहीन लागों की मदद के लिए आगे आना होगा। कोचिंग संचालकों को गरीब छात्र-छात्राओं को रियायती दर पर कोर्सेज एवं कोचिंग सुविधा उपलब्ध करानी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने इस कॉन्क्लेव के आयोजन के लिए उच्च शिक्षा विभाग, तकनीकी शिक्षा विभाग एवं इलेट्स टैक्नोमीडिया को बधाई दी और उम्मीद जताई कि काॅन्क्लेव के दौरान होने वाले विभिन्न सत्रों में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में देश-विदेश में हो रहे नवाचारों पर चर्चा होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उच्च शिक्षा की पहुंच दूर-दराज के क्षेत्रों एवं गरीब विद्यार्थियों तक बनाने की दिशा में प्रयास कर रही है। मेरे पहले कार्यकाल में प्रदेश में उच्च शिक्षा में निजी क्षेत्र को कॉलेज, यूनिवर्सिटी खोलने के लिए प्रोत्साहित किया गया था ताकि यहां के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हासिल करने के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़े। प्राइवेट कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में पढ़ाई कमजोर तबके के छात्र वहन नहीं कर पाते हैं, इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार सरकारी क्षेत्र के कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में आधारभूत सुविधाएं मजबूत करने की दिशा में कार्य कर रही है।

कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को उच्च शिक्षा से जोड़ने के लिए योजनाबद्ध तरीके से प्रयास कर रही है।

तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने तकनीकी शिक्षा को मजबूती देने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकारी इंजीनियरिंग एवं पॉलिटेक्नीक कॉलेजों में छात्रों की संख्या बढ़ी है।

इस अवसर पर कॉलेज शिक्षा आयुक्त प्रदीप बोरड़, इलेट्स टेक्नोमीडिया के प्रमोटर रवि गुप्ता, एनआईआईटी के चेयरमैन राजेन्द्र पंवार, विभिन्न दूतावासों से आए राजदूत, विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं उच्च शिक्षा से जुड़े लोग उपस्थित थे।

Next Story
Share it