Action India

जिला चिकित्सालय में ड्यूटी से गायब 10 चिकित्सकों को सिविल सर्जन ने थमाया नोटिस

जिला चिकित्सालय में ड्यूटी से गायब 10 चिकित्सकों को सिविल सर्जन ने थमाया नोटिस
X

अनूपपुर। एएनएन (Action News Network)

जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन ने 10 डॉक्टरों को मंगलवार को नोटिस जारी कर तीन दिनों में जवाब मांगा है। ये सभी चिकित्सक सोमवार को सिविल सर्जन के निरीक्षण के दौरान ड्यूटी से गायब पाए गए थे। वैश्विक महामारी कोरोना से जंग के दौरान शासन-प्रशासन का हर महकमा पूरे अलर्ट पर है। डॉक्टर्स, नर्स और स्वास्थ्यकर्मियों की टीम लगातार काम कर रही है। लेकिन अनूपपुर चिकित्सालय में सोमवार को उस समय डाॅक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई, जब सिविल सर्जन ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया।

इस दौराान अस्पताल के 10 डॉक्टर ड्यूटी पर नहीं पाए गए। इसे बड़ी लापरवाही मानते हुए सिविल सर्जन डॉ. एस.सी.राय ने मंगलवार को सभी डॉक्टरों को नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब देने को कहा है। साथ ही चेतावनी दी है कि अगर उनके जवाब संतोषप्रद नही हुए तो उनके खिलाफ अनुशासनात्क कार्रवाई करते हुए उच्च अधिकारियों को पत्राचार किया जाएगा। सिविल सर्जन द्वारा जारी कारण बताओ नोटिस में कहा कि वर्तमान में पूरा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है, ऐसे में उनके द्वारा किया गया कार्य सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के विपरीत है और कदाचार की श्रेणी में आता है। वहीं नोटिस के बाद भी मंगलवार को भी कई डाक्टर समय से जिला चिकित्सालय नही पहुंचे।

ये डॉक्टर नहीं थे ड्यूटी पर

सिविल सर्जन के अनुसार अनुपस्थित चिकित्सकों की सूची में निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. डी.के. कोरी, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. एसआर परस्ते, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी एनए खान, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. डी.आर. सिंह, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. के.बी. प्रजापति, शिशुरोग विशेषज्ञ डॉ. वीरेन्द्र खेस्स, चिकित्सा अधिकारी डॉ. एनपी मांझी, चिकित्सा अधिकारी डॉ.हेमेन्द्र चौहान एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ.अंशुमन मिश्रा शामिल हैं। वहीं सिविल सर्जन के नोटिस के बाद कुछ चिकित्सकों ने चिकित्सालय परिसर में ही उपस्थित रहने की सफाई पेश की है, लेकिन सिविल सर्जन ने इस प्रकार की लापरवाही को भारी चूक बताया है। फिलहाल जिला चिकित्सालय में सामूहिक रूप में दस चिकित्सकों के खिलाफ जारी हुए कारण बताओ नोटिस के बाद हडकम्प मचा हुआ है।

Next Story
Share it