Top
Action India

अवैध हथियार समेत अंर्तराज्यीय गैंग का खुलासा, मांडल में चार गिरफ्तार

अवैध हथियार समेत अंर्तराज्यीय गैंग का खुलासा, मांडल में चार गिरफ्तार
X

भीलवाड़ा । Action India News

भीलवाड़ा जिले की मांडल थाना पुलिस ने बुधवार को अंर्तराज्यीय गैंग का राजफाश करते हुए अवैध रूप से ले जाये जाये जा रहे हथियारों के जखीरे को पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। मांडल थाना पुलिस ने 20 ऑटोमेटिक पिस्टल व 37 मैग्जीन भी बरामद किये है। पकड़े गये चार आरोपित युवक हरियाणा के होकर जोधपुर के गेंगस्टर लोरेंस विश्नाई गेंग से जुड़े है। जोधपुर जेल से लोरेंस के साथी वाट्सअप पर इन तस्करों को निर्देशित कर रहे थे।

भीलवाड़ा की पुलिस अधीक्षक प्रीति चन्द्रा ने बुधवार को पत्रकार वार्ता में इसका खुलासा करते हुए बताया कि मांडल थाना पुलिस द्वारा आज मांडल तिराहे पर नाकाबंदी कर वाहनों की चेकिंग कर रही थी। पुलिस उपाधीक्षक सुरेंद्र कुमार के निर्देशन में आज एसएचओ राजेंद्र गोदारा हथियारों से लैस होकर नाकाबंदी में थे।

इसी दौरान एक कार एचआर 27 ई 5105 मांडल तिराहे की तरफ आने की सूचना गश्त पर मौजूद कांस्टेबल महेन्द्र ने दी। कार को नाकाबंदी में रूकवाने का प्रयास किया तो कार चालक ने पुलिस पर ही उसे चढ़ाने का प्रयास किया। कार में चार चार युवकों ने पिस्टल दिखाते हुए नाकाबंदी तोड़कर फरार हो गये।

जिस पर पीछाकर कर कार को घेर कर रोका व वहां तलाशी लेने पर कार में 20 ऑटोमेटिक पिस्टल व 37 पिस्टल के मैग्जिन मिले। प्रांरभिक जांच में पता चला किये यह हथियार इन्दौर से लाये जा रहे थे। ये हथियार हरियाणा के हिसार ले जाने थे।

एसपी चन्द्रा ने बताया कि पकड़े गये चारों आरोपित में राजेन्द्र उर्फ जोकर लीडर था। आज गिरफ्तार किये गये आरोपियों में राजेंद्र उर्फ जोकर पुत्र दलबीर सिंह कुम्हार निवासी मुगलपुरा थाना उलखाना हिसार, विक्रम सिंह पुत्र सुखदेव सिंह शर्मा पानीपत हरियाणा, मोनू पुत्र रामचंद्र बाजीगर निवासी राजूवाला फतेहाबाद हरियाणा व प्रवेश पुत्र गुलाबसिंह चमार निवासी उलखाना हिसार हरियाणा निवासी है।

राजेंद्र ने पूछताछ में बताया किये हथियार गेंगस्टर शुभम उर्फ बिगनी के लिए लाया था। शुभम ने ही इन्दौर के पास इनकी डिलीवरी दिलायी थी। हिसार में इसकी सप्लाई करनी थी। शुभम कुख्यात अपराधी एंव गेंगस्टर है। जो वर्तमान में जोधपुर जेल में बंद है। राजेंद्र के गांव उलखाना मंडी हिसार का ही रहने वाला है।

राजेंद्र के खिलाफ लूट, नकबजनी, हत्या का प्रयास सहित करीब आधा दर्जन प्रकरण दर्ज है जो चार साल जेल में रहकर करीब 15 दिन पूर्व ही जमानत पर बाहर आया था। एसपी चंद्रा ने बताया कि चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ पुलिस दल पर गाडी चढ़ाकर मारने का प्रयास करने, अवैध हथियारों रखने के मामले में धारा 307, 353, 34 भादस व 3/25 आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा पंजीबद्व किया है।

Next Story
Share it