Top
Action India

कोविड-19 के मद्देनजर सऊदी अरब में भारत समेत 20 देशों के नागरिकों की एंट्री पर रोक

कोविड-19 के मद्देनजर सऊदी अरब में भारत समेत 20 देशों के नागरिकों की एंट्री पर रोक
X

वॉशिंगटन। एक्शन इंडिया न्यूज़

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 10.78 करोड़ से ज्यादा हो गया। 7 करोड़ 98 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 23 लाख 63 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सऊदी अरब में भारत समेत 20 देशों के नागरिकों की एंट्री पर रोक लगा दी गई है। रियाद में भारतीय दूतावास ने गुरुवार को इस बारे में जानकारी दी। सोशल मीडिया पर एडवाइजरी शेयर करते हुए कहा गया कि 2 फरवरी से सऊदी अरब में 19 देशों के नागरिकों के प्रवेश पर बैन है। इसमें भारत को भी जोड़ दिया गया है। जिन देशों पर प्रतिबंध लगाया गया है, उनमें अर्जेंटीना, संयुक्त अरब अमीरात, जर्मनी, अमेरिका, इंडोनेशिया, आयरलैंड, इटली, पाकिस्तान, ब्राजील, पुर्तगाल, ब्रिटेन, तुर्की, साउथ अफ्रीका, स्वीडेन, स्वीट्जरलैंड, फ्रांस, लेबनान, मिस्र और जापान शामिल हैं।

  • ऑस्ट्रेलिया में 8 संक्रमित मिले

ऑस्ट्रेलिया की हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक क्वारैंटाइन होटल में 8 संक्रमित मिलने के बाद पूरे इलाके में टेस्टिंग और कॉन्टैक्ट ट्रैसिंग बढ़ाने का फैसला किया है। हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक बयान में माना कि जिस होटल में दूसरे देशों से आए लोगों को क्वारैंटाइन किया गया था वे सभी सुरक्षित हैं, लेकिन आठ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे कम्यूनिटी ट्रांसमिशन का खतरा है, लिहाजा इस इलाके में रहने वाले सभी लोगों से फौरन टेस्ट कराने को कहा गया है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि संक्रमित किन लोगों के संपर्क में आए थे। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने लगातार 100 दिन तक लॉकडाउन रखा था। इस शहर में ही 800 लोगों की मौत हो चुकी है।

  • एस्ट्राजेनिका वैक्सीन कारगर

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि एस्ट्राजेनिका और ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन सभी वयस्कों के लिए कारगर है। संगठन का यह बयान इसलिए मायने रखता है, क्योंकि साउथ अफ्रीका ने यह कहते हुए इसके इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी कि यह 65 साल से ऊपर के लोगों को नहीं दी जा सकती, क्योंकि इन पर यह इफेक्टिव साबित नहीं हुई। अब डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि यह साउथ अफ्रीका में पाए गए नए वैरिएंट के खिलाफ भी उतनी ही असरदार है, जितनी पुराने वायरस के खिलाफ। संगठन ने तो इसे लगाने की पैरवी भी की है। संगठन ने कहा है कि यह वैक्सीन दो डोजेस में दी जानी चाहिए।

  • इटली में नए वैरिएंट के मरीज मिलने के बाद नए रेड जोन बनाए

इटली में कोरोना के ब्रिटेन, ब्राजील और साउथ अफ्रीकी वैरिएंट के मरीज मिलने के बाद नए रेड जोन बनाए गए हैं। ये रेड जोन उन्हीं इलाकों में बनाए गए हैं, जहां नए वैरिएंट के मरीजों की पहचान की गई थी। यहां लोगों के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगाई गई है। सिर्फ जरूरी काम और मेडिकल रीजन से ही बाहर जाने की इजाजत है। ये पाबंदियां 21 फरवरी तक के लिए लगाई गई हैं।

  • मैक्सिको को कोवीशील्ड के 10 लाख डोज देगा भारत

भारत जल्द ही मैक्सिको को एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के 10 लाख डोज मुहैया कराएगा। मैक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्रैडोर ने बुधवार को इस बारे में बताया। उन्होंने बताया कि भारत से 5 लाख वैक्सीन की पहली खेप रविवार को यहां पहुंचेगी। इसके कुछ दिन बाद 5 लाख डोज की दूसरी खेप के आने की संभावना है।

Next Story
Share it