Action India
अंतर्राष्ट्रीय

पाकिस्तानी अखबारों सेः महंगाई पर संसद से सड़क तक हंगामा, इमरान ने कहा- भारत में भी तेल महंगा

पाकिस्तानी अखबारों सेः महंगाई पर संसद से सड़क तक हंगामा, इमरान ने कहा- भारत में भी तेल महंगा
X

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़

पाकिस्तान से शनिवार को प्रकाशित अधिकांश अखबारों ने महंगाई को लेकर हाहाकार मचने और संसद से सड़क तक हंगामा होने की खबरें प्रकाशित की हैं। अखबारों ने लिखा है कि पेट्रोलियम उत्पादों के दामों में वृद्धि के बाद अब बिजली के दामों में भी वृद्धि की गई है। विपक्षी दलों ने संसद में महंगाई को लेकर जमकर हंगामा किया है और इमरान खान सरकार को आड़े हाथों लिया है। पीडीएम नेता मौलाना फजलुर्रहमान ने टेलीफोन पर विपक्षी नेता शहबाज शरीफ और बिलावल भुट्टो से बातचीत कर सरकार को घेरने के लिए रणनीति बनाने पर जोर दिया है।

अखबारों ने प्रधानमंत्री इमरान खान का एक बयान भी छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान में पड़ोसी देशों के बनिस्बत महंगाई काफी कम है। इमरान खान का कहना है कि भारत और दूसरे देशों में पेट्रोल-डीजल के दाम पाकिस्तान से काफी ज्यादा हैं। इमरान खान ने कहा है कि कोरोना महामारी की वजह से पाकिस्तान में महंगाई बढ़ी है। अखबारों ने बताया है कि इधर चीनी के दाम में भी लगातार वृद्धि हो रही है और चीनी कई शहरों में 160 रुपये किलो बिक रही है। सरकार ने चीनी के दामों को कंट्रोल करने के लिए पुलिस का सहारा लिया है और छापामारी अभियान चलाया जा रहा है। दो मिलों को सील किए जाने की खबरें आई हैं।

अखबारों ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के जरिए अपना त्यागपत्र वापस लिए जाने की खबरें भी प्रमुखता से छापी हैं। इसके साथ अखबारों ने लिखा है कि वह अब भी अपनी मांगों पर अड़े हैं। अखबारों ने सांख्यिकी विभाग का साप्ताहिक आंकड़ा प्रकाशित किया है जिसमें बताया गया है कि चीनी, आटा, आलू, अंडा समेत 28 वस्तुएं महंगी हुई हैं और 3 वस्तुएं सस्ती हुई हैं। टमाटर और गुड़ के दामों में भी वृद्धि दर्ज की गई है। अखबारों ने पेट्रोलियम उत्पादों के दामों में वृद्धि किए जाने के सरकार के फैसले के खिलाफ गठबंधन में शामिल नेताओं और सत्ताधारी पीटीआई के लोगों के जरिए भी सरकार का विरोध किए जाने की खबरें दी हैं। यह सभी खबरें रोजनामा दुनिया, रोजनामा खबरें, रोजनामा औसाफ, रोजनामा पाकिस्तान, रोजनामा एक्सप्रेस, रोजनामा नवाएवक्त और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं।

Next Story
Share it