Action India
अंतर्राष्ट्रीय

विदेशी कर्ज चुकाने से श्रीलंका का इनकार, देश को घोषित किया डिफॉल्टर

विदेशी कर्ज चुकाने से श्रीलंका का इनकार, देश को घोषित किया डिफॉल्टर
X

कोलंबो। एक्शन इंडिया न्यूज़

भीषण आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका ने विदेशी कर्ज चुकाने से साफ इनकार कर दिया है। श्रीलंका के वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को 51 अरब डॉलर के विदेशी कर्ज चुकाने में असमर्थता जाहिर करने के साथ ही देश को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है।

श्रीलंका में जारी आर्थिक संकट का समाधान नहीं हो पा रहा है। ऐसे में श्रीलंका के वित्त मंत्रालय ने साफ कह दिया है कि वह दूसरे देशों समेत विभिन्न अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों से लिए हुआ कर्ज चुकाने की स्थिति में नहीं है। श्रीलंका की सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि मौजूदा स्थितियों में देश के सामने कर्ज अदायगी के मामले में डिफॉल्टर बनने के अलावा कोई विकल्प नहीं है, इसलिए देश इस अंतिम विकल्प पर पहुंचा है।

वित्त मंत्रालय की ओर से साफ कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय कर्जदाता उससे मंगलवार दोपहर के बाद अपने कर्ज को श्रीलंकाई रुपये में वापस ले सकते हैं या अपने कर्ज पर ब्याज जोड़ सकते हैं। श्रीलंकाई रुपये में कर्ज वापसी के प्रस्ताव से स्पष्ट है कि श्रीलंका का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग खत्म हो गया है। यह देश अब डॉलर में भुगतान कर ही नहीं सकता है।

विशेषज्ञों का मानना है कि पहले ही डॉलर के मुकाबले श्रीलंकाई रुपये का काफी अवमूल्यन हो चुका है, ऐसे में कर्जदाता इस तरह भुगतान वापसी के लिए तैयार नहीं होंगे। श्रीलंका 51 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज चुकाने में तो लाचार हो ही गया है, वह अपने 2.20 करोड़ देशवासियों के लिए आवश्यक वस्तुएं जुटाने में भी सफल नहीं हो पा रहा है।

Next Story
Share it