Top
Action India

म्यांमार में हुई हिंसा से ब्रिटेन के प्रधानमंत्री 'भयभीत'

म्यांमार में हुई हिंसा से ब्रिटेन के प्रधानमंत्री भयभीत
X

नैपीटॉ। एक्शन इंडिया न्यूज़

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि वह म्यांमार में हिंसा बढ़ने से भयभीत हैं। साथ ही उन्होंने देश में सैन्य दमन का अंत करने का आह्वान किया है। जॉनसन ने ट्विटर पर कहा कि हम सैन्य दमन के तत्काल अंत, आंग सान सू की और अन्य नेताओं की रिहाई चाहते हैं और लोकतंत्र की बहाली के लिए म्यांमार के लोगों के साथ खड़े हैं। इसके अलावा जॉनसन ने बुधवार को सैन्य तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शनकारियों की हत्या की निंदा भी की है। ब्रिटेन ने कई बार सेना के जनरलों द्वारा लोकतंत्र के साथ एक दशक के लंबे प्रयोग को समाप्त करने के बाद बार-बार हो रहे दमन और अधिकारों के हनन की निंदा की है।

ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने भी ट्वीट कर म्यांमार में भयानक दृश्यों की निंदा की है। उन्होंने लिखा कि केवल शांतिपूर्ण विरोध के अपने अधिकार का उपयोग करने के लिए घातक बल के साथ अपने लोगों को लक्षित करना अस्वीकार्य है और यह हिंसा समाप्त होनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि पिछले महीने ब्रिटेन ने सेना प्रमुख मिन लाइंग सहित सेना के छह अन्य सदस्यों पर प्रतिबंध लगाया था। इसके तहत इन लोगों को ब्रिटेन में यात्रा करने, व्यापार करने और यहां के संस्थानों में जाने पर रोक है। इससे पहले भी 19 अन्य सैन्य अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाए गए थे।

Next Story
Share it