Action India

इंग्लैंड दौरा परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास : होल्डर

इंग्लैंड दौरा परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास : होल्डर
X

मैनचेस्टर । एएनएन (Action News Network)

वेस्टइंडीज के कप्तान जैसन होल्डर ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला सामान्य द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं है, बल्कि यह परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास है।

बता दें कि कोरोनावायरस महामारी के कारण मार्च से सभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को निलंबित कर दिया गया है, लेकिन इंग्लैंड-वेस्टइंडीज के बीच तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी को चिह्नित करेगी।

होल्डर ने कहा, "कोरोना वायरस महामारी की स्थिति को देखते हुए यह इंग्लैंड में एक सामान्य द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं होने जा रही है। बल्कि यह परिस्थितियों को सामान्य करने की दिशा में एक वास्तविक प्रयास है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह अलग होगा। हमें सिर्फ इसके साथ आगे बढ़ना है और अधिकांश परिस्थितियों को सहज बनाने की कोशिश करनी है।"

ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी का व्यापक प्रभाव पड़ा है जहां अभी तक इस बीमारी के कारण 40,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी तरफ कैरेबियाई देशों में बहुत कम संख्या में मामले सामने आये हैं। होल्डर ने कहा कि उनके यहां आने का कारण पैसा नहीं है और वे स्वास्थ्य से समझौता नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे लिये पैसों से जुड़ा मसला नहीं है। हम सुरक्षा चाहते हैं और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हमारे लिये उचित व्यवस्था की जाए और हम उस पर अमल करें। ’’

होल्डर ने कहा, ‘‘अगर आप खुद को एक स्वास्थ्यकर्मी या इस महामारी के दौरान काम करने के वाले व्यक्ति की जगह रखकर देखो तो पाओगे कि उन्हें इस घर में बैठने या वायरस से दूर रहने का मौका नहीं मिला। हम भाग्यशाली हैं कि हम उस स्थिति में नहीं है लेकिन किसी समय आपको स्थितियां सामान्य लाने क लिये अपनी तरफ से प्रयास तो करने ही होंगे।’’ वेस्टइंडीज की टीम ब्रिटेन में पहुंचने के बाद ओल्ड ट्रैफर्ड में पृथकवास पर है। टीम यहां तीन सप्ताह तक अभ्यास करेंगी।

होल्डर इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की व्यवस्था से प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि उनके ठहरने के स्थान पर हैंड सैनिटाइजर, एक बार उपयोग होने वाले दस्ताने और थर्मामीटर बड़ी संख्या में उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह की चीजों से आपको राहत मिलती है और आप अधिक सहज होकर रहते हो। अगर ऐसी चीजें नहीं होती तो आपको चिंता रहती कि क्या वे वास्तव में सुरक्षित हैं।’’

होल्डिंग ने नस्लवाद के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के उनकी टीम पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में भी बात की। अमेरिका में अफ्रीकी मूल के जार्ज फ्लॉयड की मौत के बाद इस तरह के विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी पिछली श्रृंखलाओं में विशेषकर इंग्लैंड के खिलाफ लोगों ने श्रृंखला से पहले कुछ बातें की जिससे कैरेबियाई होने के नाते हमें अच्छा प्रदर्शन करने के लिये प्रेरणा ही मिली। कौन जानता है कि इससे हमारी संपूर्ण टीम में वास्तविक सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो जाए।’’

Next Story
Share it