Action India

गेंद की चमक बनाए रखने के लिए लार के विकल्प की जरूरत : बुमराह

गेंद की चमक बनाए रखने के लिए लार के विकल्प की जरूरत  : बुमराह
X

मुंबई । एएनएन (Action News Network)

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का मानना है कि फिर से वैश्विक क्रिकेट शुरू होने के बाद गेंद की चमक बनाए रखने के लिए लार के विकल्प की जरूरत है ताकि स्विंग या रिवर्स स्विंग मिल सके। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के बाद क्रिकेट में कई सारे बदलाव देखने को मिलेंगे। इसमें सबसे बड़ा बदलाव है,गेंद को चमकाने के लिए उस पर लगाए जाने वाली लार के इस्तेमाल पर रोक। बुमराह ने आईसीसी की वीडियो सीरिज इनसाइड आउट में इयान बिशप और शॉन पोलाक से साथ बातचीत के दौरान कहा, "मैं वैसे भी मैदान पर गले लगने या हाई-फाइव करने वालों में से नहीं हूं तो मुझे इसे लेकर ज्यादा परेशानी नहीं होगी। लेकिन मेरे लिए लार के इस्तेमाल की थोड़ी कमी महसूस होगी।"

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं पता कि खेल बहाल के बाद क्या दिशानिर्देश होंगे, लेकिन मेरा मानना है कि इसका विकल्प होना चाहिए। गेंद पर लार का इस्तेमाल नहीं होने से गेंदबाजों के लिए काफी मुश्किल होगी। मैदान छोटे होते जा रहे हैं और विकेट भी सपाट हो रहे हैं। इसलिए हमें गेंद की चमक बनाए रखने के लिए विकल्प की जरूरत है ताकि स्विंग या रिवर्स स्विंग मिल सके।"
26 वर्षीय तेज गेंदबाज ने अपने अनोखे गेंदबाजी एक्शन को लेकर कहा कि कुछ लोगों को इस पर संदेह था, लेकिन उन्होंने कभी उनकी नहीं सुनी और अपनी रणनीतियों पर भरोसा किया।
बुमराह ने कहा, मेरे साथ कभी पेशेवर कोच नहीं रहा है। मैंने खुद से ही सभी क्रिकेट सीखी है। मैंने सबकुछ टेलीविजन और वीडियो देखकर ही सीखा है। इसलिए मैं नहीं जानता कि एक्शन कैसे विकसित की जाती है। कुछ लोग ऐसे थे, जिन्हें इस पर संदेह था और इस चीज ने मुझे इस उलझन में डाल दिया कि क्या मुझे अपना गेंदबाजी एक्शन बदलना चाहिए या नहीं। लेकिन मैंने कभी उनकी नहीं सुनी। मुझे हमेशा इस पर विश्वास था कि मैं इसे कर सकता हूं।

बुमराह ने कहा कि वह नहीं जानते हैं कि लॉकडाउन के बाद उनका शरीर किस तरह से काम करेगा। उन्होंने कहा, मैं नहीं जानता कि जब आप दो या तीन महीने तक गेंदबाजी नहीं करते हैं तो आपका शरीर कैसे प्रतिक्रिया करता है। मैं ट्रेनिंग के साथ बनाए रखने की कोशिश कर रहा हूं ताकि जैसे ही मैदान खुलें, शरीर सभ्य आकार में हो। मैंने सप्ताह में लगभग छह दिन ट्रेनिंग ली है, लेकिन मैंने लंबे समय तक गेंदबाजी नहीं की है, इसलिए मुझे नहीं पता कि जब मैं पहली गेंद डालूंगा तो शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा। भारतीय तेज गेंदबाज ने साथ ही कि खिलाड़ियों को पहले कभी भी इतना लंबा ब्रेक नहीं मिला था, इसलिए मैदान पर वापस लौटने के लिए उन्हें तरोताजा होने की जरूरत होगी। बुमराह ने कहा, मैं इसे अपने शरीर को रिन्यू करने के एक तरीके के रूप में देख रहा हूं। हमें इस तरह का ब्रेक फिर कभी नहीं मिलेगा, इसलिए यहां तक कि अगर आपके पास एक छोटा सा निगल है, तो आप वापस आने पर एक ताजा व्यक्ति हो सकते हैं। ये आपके करियर को लंबा खींच सकता है।

Next Story
Share it