Action India
झारखंड

कांग्रेस ने तीसरा वीडियो राष्ट्र के नाम जारी किया

कांग्रेस ने तीसरा वीडियो  राष्ट्र के नाम जारी किया
X

रांची । Action India News

अखिल भारतीय कांग्रेस की सोशल मीडिया साइड पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर वीडियो श्रृंखला कड़ी में रविवार को तीसरा वीडियो राष्ट्र के नाम जारी किया गया।

राहुल गांधी ने स्पीक ऑन इकोनामी के तहत प्रधानमंत्री द्वारा नोटबंदी, गलत जीएसटी एवं लोक डाउन के मद्देनजर लगातार गिरती अर्थव्यवस्था एवं असंगठित कामगारों पर हो रहे हमले को लेकर बेबाक देश की जनता के सामने आज फिर अपनी राय रखी है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह खाद्य आपूर्ति व वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने आर्थिक संकट पर जारी वीडियो की दूसरी कड़ी को झारखंड की जनता के लिए अपने सोशल मीडिया साइट फेसबुक,टि्वटर, इंस्टाग्राम ,व्हाट्सएप पर जारी करते हुए पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि जीएसटी असंगठित अर्थव्यवस्था पर एक बड़ा हमला था।

जीएसटी यूपीए का एककर, न्यूनतम कर ,मानक और सरल कर वाला विचार था, एनडीए के जीएसटी ने 28 प्रतिशत तक चार अलग-अलग टैक्स स्लैब डाले जिन्हें समझना कठिन और जटिल था। एनडीए की जीएसटी टैक्स जो छोटे, मध्यम लघु व्यापारी हैं वह इस टैक्स को भर ही नहीं सकते हैं और जो बड़ी कंपनियां है इसको आसानी से भर सकते हैं।

उरांव ने कहा 5 -10 -15 एकाउन्टेंटस वाले ही टैक्स चला सकते हैं, यह चार अलग-अलग रेट क्यों है। यह चार अलग-अलग रेट इसलिए हैं क्योंकि सरकार चाहती है जिसकी पहुंच हो वो जीएसटी को आसानी से बदल पाए और जिसकी पहुंचना हो वह जीएसटी के बारे में कुछ ना पार कर पाए।

पहुंच किसकी है हिंदुस्तान के सबसे बड़े 15-20 उद्योगपतियों की पहुंच है तो जो भी टैक्स का कानून वो बदलना चाहते हैं वह इस जीएसटी कानून को आसानी से बदल सकते हैं। एनडीए की जीएसटी का नतीजा क्या है ,आज हिंदुस्तान की सरकार राज्यों को जीएसटी का पैसा नहीं दे पा रही है।

केन्द्र सरकार प्रदेश के कर्मचारियों को ,शिक्षकों को पैसा नहीं दे पा रही है, तो जीएसटी बिल्कुल फेल है। लेकिन यह सिर्फ फेल नहीं है यह एक आक्रमण है गरीबों पर लघु मध्यम व्यापारियों पर । जीएसटी टैक्स की व्यवस्था नहीं जीएसटी हिंदुस्तान के गरीबों पर बड़ा हमला है।

एनडीए की जीएसटी ने भारत के सबसे बड़े 10 20 उद्योग पतियों का ही ख्याल रखा, नतीजा आज भारत सरकार राज्यों को जीएसटी मुआवजा राशि प्रदान करने में असमर्थ है।एनडीए की जीएसटी कोई कर प्रणाली नहीं बल्कि यह गरीब छोटे और मध्यम व्यापारियों पर छोटे दुकानदारों ,किसानों और मजदूरों पर हमला है हमें इस मामले को पहचानना होगा और मिलकर एक साथ इसके खिलाफ हम सब को खड़ा होना पड़ेगा।

कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि मोदी सरकार के गलत फैसलों की वजह से आज देश के किसी भी राज्यों को उनका जीएसटी का मुआवजा का राशि नहीं मिल पा रही है ,अब तो स्थितियां यह है कि नौकरियां व नए पदों पर बैन हो गए हैं।

युवाओं के लिए वर्तमान में भी और भविष्य में भी नौकरी नहीं है। युवाओं के भविष्य पर कुंडली मारे बैठी हुई है केंद्र की सरकार। नए रोजगारों का रास्ता बंद है, पुराने रोजगार के ऊपर ताला बंद है, नौकरी पेशा व मध्यम वर्गीय परिवार रोज मर रहे हैं वही गरीब और प्रतिदिन कमाने वाले लोगों के ऊपर जीवन जीने का संकट बन कर सामने मुंह बाए खड़ी है।

मंत्री बादल पत्रलेख और बन्ना गुप्ता ने कहा कि चार घंटे के अंदर देश में किए गए लॉकडाउन का नतीजा यह है कि हम पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमण के मामले में दूसरे स्थान पर खड़े हैं। केंद्र की सरकार कोरोना संक्रमण को लेकर दुनिया को और देश को गुमराह करने पर तुली हुई है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी सोशल मीडिया के कोऑर्डिनेटर गजेंद्र प्रसाद सिंह के सहयोग से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विधायक ने ,जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, और प्रमुख पदाधिकारियों में सर्वश्री अमूल्य नीरज खलखो,शकील अख्तर अंसारी, निरंजन पासवान,बेलस तिर्की, सुखेर भगत, सन्नी टोप्पो आदि ने भी पोस्ट किया है जिसे देश सहित झारखण्ड में भी ट्रेंड कर रहा है।

Next Story
Share it