Action India
अन्य राज्य

JNU के हॉस्टल की फीस बढाने पर छात्रों ने किया प्रदर्शन

JNU के हॉस्टल की फीस बढाने पर छात्रों ने किया प्रदर्शन
X

नई दिल्ली, ब्यूरो | जेएनयू कॉलेज में एक बार फिर से स्टूडेंट्स का विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। प्रोटेस्ट में मंगलवार को जेएनयू छात्र संघ ने कंप्लीट यूनिवर्सिटी स्ट्राइक का आयोजन किया है। ये प्रदर्शन सोमवार को इंटर हॉस्टल कमेटी की तरफ से लिए गए फैसलों के विरोध में है। सुबह होते ही डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के बाहर सैकड़ों की तादाद में स्टूडेंट्स इकट्ठा होकर बैठ गए। इसके बाद छात्रों ने जेएनयू के अलग-अलग विभागों में मार्च निकाला। स्टूडेंट्स का कहना है कि जब तक ये फैसले वापस नहीं लिए जाते, उनका विरोध प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा। इस प्रदर्शन की खास बात ये है कि एबीवीपी संगठन ने भी इस प्रोटेस्ट को समर्थन दिया है। इस बारे में जेएनयू के एबीवीपी अध्यक्ष दुर्गेश का कहना है कि कुछ छात्रों ने डीन की एंबुलेंस रोका जिसका वह पूरी तरह से विरोध करते हैं।

दरअसल सोमवार को इंटर हॉस्टल एडमिनिस्ट्रेशन की कमेटी ने मीटिंग बुलाई थी। इस बैठक में हॉस्टल की फीस बढ़ोतरी से लेकर हॉस्टल से आने जाने का वक्त तय करना और प्रोटेस्ट करने पर फाइन पनिशमेंट आदि लगाने जैसे नियमों पर चर्चा हुई थी। जेएनयू ने 23 अक्टूबर से जेएनयू कैंपस के गेट बंद करने का नया नियम लागू किया था। इसकी जानकारी अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन विभाग के डीन की ओर से मिले एक नोटिस के जरिये छात्रों को ये दी गई। इस नोटिस में रूम नंबर 16, कॉमन रूम्स और एसआईएस 1 व एसआईएस टू के मेन गेट को लेकर नया नियम लागू किया गया है। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन ने प्रशासन पर कैंपस के गेट शाम छह बजे के बाद बंद करने के नये नियम पर विरोध जताया। AISA ने कहा कि कैंपस के गेटों को शाम छह बजे बंद कर देना आवाजाही की स्वतंत्रता को सीमित करना है। प्रशासन ने कहा था कि यह कदम छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और बाहरी लोगों के इमारत में प्रवेश को रोकने के उद्देश्य से लिया गया है।

Next Story
Share it