Top
Action India

बोल्टन का दावा, ट्रम्प ने फिर जीत के लिये शी जिनपिंग से मदद मांगी

बोल्टन का दावा, ट्रम्प ने फिर जीत के लिये शी जिनपिंग से मदद मांगी
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

अमेरिकी राष्ट्रपति के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन की एक नई किताब के बुधवार को प्रकाशित अंशों के अनुसार डोनाल्ड ट्रम्प ने 2020 में फिर से चुनाव जीतने में मदद के लिए चीन के नेता शी जिनपिंग से आग्रह किया है।

बोल्टन ने तीखी आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि केवल दूसरा कार्यकाल जीतने पर ध्यान केंद्रित करना ट्रम्प की विदेश नीति का संचालन सिद्धांत था। ट्रंप के पूर्व शीर्ष सहयोगी ने बुनियादी भू-राजनीतिक तथ्यों की अनदेखी के लिए रिपब्लिकन नेता की आलोचना की।

द वॉशिंगटन पोस्ट, द न्यूयॉर्क टाइम्स और द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा प्रकाशित अंशों में बोल्टन दावा करते हैं कि ट्रम्प ने चीनी मानव अधिकारों के दुरुपयोग को नजरअंदाज करने के लिए बार-बार तत्परता दिखाई। सबसे स्पष्ट रूप से उइगर मुसलमानों की बड़े पैमाने पर नजरबंदी के बारे में शी से बात करना बिल्कुल सही मुद्दा था।

बोल्टन ने दावा किया कि पिछले जून में शी के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए चल रहे अभियानों को प्रभावित करने की चीन की आर्थिक क्षमता के कारण अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए विनती करते हुए ट्रंप ने आश्चर्यजनक ढंग से बातचीत शुरू की।

बोल्टन लिखते हैं कि ट्रम्प ने अमेरिकी किसानों के महत्व पर जोर दिया और कहा कि कैसे "सोयाबीन और गेहूं की चीनी खरीद में वृद्धि" अमेरिकी चुनावी नतीजों को प्रभावित कर सकती है।
इस संस्मरण को लेकर ट्रम्प के गुस्से के संकेत में न्याय विभाग ने बुधवार देर रात एक आपातकालीन याचिका दायर की, जिसमें किताब के प्रकाशन को रोकने की मांग की गई।

यह दूसरी बार है जब इस पुस्तक के प्रकाशन को रोकने की कोशिश की गई। यह तर्क देते हुए कि बोल्टन पुस्तक के प्रकाशन के लिये जरूरी निरीक्षण को पूरा करने की अनुमति देने में विफल रहे, विभाग ने अदालत से "राष्ट्रीय सुरक्षा के नुकसान को रोकने के लिए कार्रवाई करने का आग्रह किया। जबकि ट्रम्प ने बुधवार की देर शाम को फॉक्स न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि बोल्टन ने "अत्यधिक गोपनीय जानकारी" को प्रकाशित करके "कानून को तोड़ा है।"

Next Story
Share it