Top
Action India

मर्चेंट नेवी से निकाले गए जवान ने पत्नी की हत्या कर ट्रक के आगे कूद कर दी जान

मर्चेंट नेवी से निकाले गए जवान ने पत्नी की हत्या कर ट्रक के आगे कूद कर दी जान
X

लोहे की रॉड से दोनों बेटों पर भी जानलेवा हमला कर दिया मरणासन्न, हालत नाजुक

कानपुर देहात। एएनएन (Action News Network)

जिले में दिल दहला देने वाली घटना प्रकाश में आई है। भोगनीपुर थाना इलाके में रहने वाले मर्चेन्ट नेवी से निकाले जा चुके सिरफिरे जवान ने गृह कलेश के चलते रॉड से बेरहमी से पीट-पीटकर कर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। पत्नी की हत्या के बाद बौखलाहट में उसने अपने दोनों बच्चों पर भी जानलेवा हमला करते हुए मरणासन्न कर दिया। हृदय विदारक घटना अंजाम देने के बाद पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए आरोपी ने कानपुर-झांसी हाइवे पर पहुचकर ट्रक के आगे कूदकर जान दे दी। घटना की जानकारी पर मृतक आरोपी के बीएसएफ से सेवानिवृत्त पिता ने मासूम नातियों को नाजुक हालत में निजी अस्पताल में भर्ती कराया। सूचना पर पहुची पुलिस ने मृत महिला व पति के शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

कानपुर देहात जनपद की भोगनीपुर तहसील क्षेत्र स्थित कस्बा पुखरायां के राजेंद्र नगर वार्ड नंबर 17 निवासी में सेवानिवृत्त बीएसएफ जवान राम बिहारी यादव रहते है। इनका इकलौता बेटा दीपू यादव मर्चेंट नेवी में जवान था। मर्चेंट नेवी में तैनात दीपू की शादी रश्मि (30) में हुई थी। दोनों के दो बेटे मयंक व हनी हैं। मर्चेंट नेवी में तैनात जवान दीपू को 2011 में बीमारी की चलते निकाल दिया गया था। जिसके बाद से वह घर पर ही रहता था और इधर काफी तनाव में रहने लगा था। शायद यही वजह परिवार में गृह कलेश का कारण बन गई थी। आए दिन किसी न किसी बात को लेकर पति-पत्नी के बीच विवाद होता रहता था। शनिवार की अर्धरात्रि तक पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ। विवाद के बाद मर्चेंट नेवी से निकाले गए जवान पति ने आपा खो दिया और लोहे की रॉड से हमला कर दिया। उसनेेे पत्नी तब तक पीटा जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। इस बीच मां को बचाने आए दोनों बेटों को भी बौखलाए पिता ने नहीं बख्शा और उन पर भी जानलेवा हमला कर दिया।

वारदात के बाद शोर-शराबा सुनकर परिवारी जन पहुंचे। उन्हें देख आरोपी पति पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए भाग खड़ा हुआ और कानपुर-झांसी राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंचकर तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक के सामने कूद गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बहू का शव व नातियों को लहूलुहान फर्श पर पड़ा देख सेवानिवृत्त बीएसएफ जवान बाबा के होश उड़ गए। उन्होंने पुलिस को सूचना देते हुए लहूलुहान हालत में दोनों नातियों को इलाज के लिए पास के अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी हालत देख उन्हें कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया। कानपुर में दोनों का इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा है।

घटना के संबंध में भोगनीपुर कोतवाल ने रविवार को बताया कि पति ने गृह कलेश के चलते पत्नी की हत्या कर दी है। उसने अपने दोनों बेटों को भी मरणासन्न करते हुए खुद भी ट्रक के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली है। शवों को कब्जे में लेकर परिवारिजनों से पूछताछ में पता चला है कि मृतक आरोपी काफी समय से मानसिक तनाव में था और उसका इलाज चल रहा था। फिलहाल शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेजते हुए कार्रवाई की जा रही है। इस घटना की जानकारी पर कस्बे में रहने वाले नागरिक स्तब्ध हैं।

Next Story
Share it