Action India

कपिल की 175 रनों की पारी एकदिनी क्रिकेट की सबसे बेहतरीन पारियों में से एक : कैफ

कपिल की 175 रनों की पारी एकदिनी क्रिकेट की सबसे बेहतरीन पारियों में से एक : कैफ
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

भारत के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने गुरुवार को 1983 विश्व कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ कपिल देव की 175 रनों की पारी को याद करते हुए कहा कि कपिल द्वारा खेली गई यह पारी एकदिवसीय क्रिकेट में खेली गई सबसे बेहतरीन पारियों में से एक है।

कैफ ने इस पारी को याद करते हुए ट्वीट किया, “कपिल देव ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 1983 विश्व कप में आज ही के दिन 138 गेंदों में 175 रनों की नाबाद पारी खेली थी। वह जब बल्लेबाजी करने उतरे उस समय भारत का स्कोर 9 रन पर चार विकेट था। संभवतः अब तक की सबसे बड़ी वनडे पारी। लेकिन इस पारी के बिना भारत का 1983 विश्व कप जीतना संभव नहीं था। इस पारी के बारे में सुनकर ऊर्जा से भर जाता हूं। पाजी तुस्सी ग्रेट हो।”

बता दें कि वर्ष 1983 विश्व कप के ग्रुप-स्टेज मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ कपिल देव ने आज ही के दिन अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए क्रिकेट इतिहास की सबसे यादगार पारियों में से एक खेली थी। विश्व कप के आखिरी चार में पहुंचने के लिए भारत को जिम्बाब्वे को हराना जरूरी था।

कपिल देव ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। सुनील गावस्कर, के. श्रीकांत, मोहिंदर अमरनाथ और संदीप पाटिल सस्ते में निपट गए। टीम इंडिया की हालत खस्ता हो चली थी। भारतीय टीम को स्कोर पहले चार विकेट पर 9 रन था फिर 17 रन पर पांच विकेट हो गया। क्रीज पर कपिल के साथ रोजर बिन्नी थे। इसके बाद कपिल देव ने जिम्बाब्वे के गेंदबाजों को खुशी मनाने का ज्यादा मौका नहीं दिया। उन्होंने ताबड़तोड़ 175 रनों की पारी खेली। 138 गेंद पर उन्होंने 16 चौके जड़े और 6 छक्के जड़े।

बिन्नी, मदन लाल और सैय्यद किरमानी के साथ छोटी-छोटी साझेदारियों के दम पर कपिल ने स्कोर 266 रनों तक पहुंचा दिया था। जवाब में जिम्बाब्वे की टीम 235 रनों पर सिमट गई थी। भारत ने यह मैच 31 रनों से जीता। हालांकि इस मैच का प्रसारण नहीं हुआ और क्रिकेट प्रेमी कपिल की इस पारी को देखने से वंचित रह गए। कपिल देव के नेतृत्व वाली टीम 1983 विश्व कप जीतने में सफल रही थी। भारतीय टीम ने लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर टूर्नामेंट के फाइनल में वेस्टइंडीज को हराया था।

Next Story
Share it