Top
Action India

कठुआ के वार्ड़ नंबर 21 में मध्यम और गरीब परिवार लंगर लगाकर प्रवासी मजदूरों को खाना मुहैया करवा रहे

कठुआ के वार्ड़ नंबर 21 में मध्यम और गरीब परिवार लंगर लगाकर प्रवासी मजदूरों को खाना मुहैया करवा रहे
X

कठुआ । एएनएन (Action News Network)

जहां एक तरफ कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते देशभर में लाॅकडाउन की स्थिति बनी हुई है और गरीब दिहाड़ीदार प्रवासी लोगों की मुश्किलें बढ़ हैं। लेकिन वहीं दूसरी ओर गरीब दिहाड़ीदार प्रवासी लोगों के लिए कुछ समाजसेवी संस्थाएं और कुछ मुहल्लों के लोग स्वयं लंगर लगाकर इन लोगों को खाना मुहैया करवा रहे हैं। ऐसा ही कठुआ के वार्ड नंबर 21 रामनगर कॉलोनी में स्थित शिव मंदिर में रोजाना दिहाड़ीदार प्रवासी लोगों के लिए खाना बनता है और उन्हें प्रतिदिन खाना खिलाया जाता है।

वार्ड नंबर 21 रामनगर कॉलोनी मंदिर के स्थानीय लोगों ने बताया कि बिते 2 अप्रैल से उन्होंने इन प्रवासी मजदूरों के लिए लंगर लगाया हुआ है। उन्होंने कहा कि वार्ड नंबर 21 मंदिर के पास वाले मोहल्ले के स्थानीय लोग आपस में मिलजुल कर इस लंगर की व्यवस्था कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से उन्हें किसी भी प्रकार की कोई मदद नहीं दी गई है। हालांकि उन्होंने जिला उपायुक्त से भी फोन पर बात की थी कि उन्हें कच्चा राशन मुहैया करवाया जाए ताकि वह इन लोगों को आगे भी खाना मुहैया करवा सकें।

वहीं वार्ड़ 21 में रहने वाले लोगों का कहना है कि 2 अप्रैल से जारी इस लंगर में मोहल्ले के हर घर के लोग अपना योगदान दे रहे हैं और इस मुहल्ले के लोग कोई ज्यादा अमीर नहीं है सभी मध्यम परिवारों से संबंधित है और कुछ लोग तो काफी गरीब हैं। फिर भी सभी आपस में मिलजुलकर इन प्रवासी मजदूरों के लिए लंगर की व्यवस्था बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि अब अगर लाॅकडाउन ज्यादा लंबा चलता है तो फिर इन प्रवासी मजदूरों को वह खाना नहीं मुहैया करवा सकेंगे क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति भी दयनीय हो जाएगी।

दरअसल वार्ड़ नंबर 21 रामनगर कॉलोनी में ज्यादातर बाहरी राज्य के प्रवासी मजदूर रहते हैं इसलिए उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि कृपया वार्ड नंबर 21 रामनगर कॉलोनी शिव मंदिर में जो लंगर लगाया गया है उसमें प्रशासन भी अपना योगदान करें और उन्हें कच्चा राशन मुहैया करवाए ताकि वह सैकड़ों प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाने की मुहिम को जारी रख सकें।

Next Story
Share it