Top
Action India

खगड़िया में कोसी और बागमती नदियां उफान पर

खगड़िया में कोसी और बागमती नदियां उफान पर
X

खगड़िया । एएनएन (Action News Network)

खगड़िया जिले में 2 नदियां बागमती और कुर्सी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है जबकि बूढ़ी गंडक नदी और गंगा नदी का जलस्तर अभी खतरे के निशान से नीचे है। रविवार गोत्र के से शुरू हुई वर्षा लगातार जारी है।

कोसी नदी के वीर वास गांव में तटबंध सुरक्षा के कार्य शुरू किए गए हैं। विभागीय प्रतिवेदन के अनुसार रविवार की सुबह 6 बजे तक 19.1 मि.मी (दैनिक) वर्षा हुई। किसके साथ ही अबतक 260.28 मि.मी (समेकित) वर्षा हो चुकी है जबकि सामान्य वर्षापात 156.20 मि.मी (जून) रहा है। इस तरह स्पष्ट है कि सामान्य से अधिक वर्षा जून के महीने में हुई है।

खगरिया जिले में मुख्य रूप से 6 नदियां बहती हैं। बूढ़ी गंडक नदी का वास्तविक जल स्तर 32.58 मीटर दर्ज किया गया जो धीरे-धीरे बढ़ रही है। बूढ़ी गंडक नदी का खतरे का जल स्तर 36.60 मीटर है।

इस तरह फिलहाल बूढ़ी गंडक नदी खतरे के निशान से नीचे बह रही है। गंगा नदी वास्तविक स्तर खतरे के निशान के नीचे है। गंगा नदी का जलस्तर 34.07 मीटर है। बागमती नदी का वास्तविक जलस्तर 35.96 मीटर है जो बढ़त की ओर है। इस नदी का खतरे का स्तर 35.63 मीटर है जो बाढ़ की स्थिति उत्पन्न कर रही है।

कोसी नदी वास्तविक जलस्तर 33.96 मीटर है। जो लगातार बढ़ रही है। कोसी नदी का खतरे का स्तर 33.85 मीटर है। कोसी और बागमती नदियां बाढ़ की स्थिति में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल 1 एवं 2 अंतर्गत सभी तटबन्ध एवं अन्य संरचनाएं वर्तमान में सुरक्षित हैं। रविवार से बीरबास साइट पर बाढ़ बचाव का कार्य प्रारंभ होगा ।

डीएम आलोक रंजन घोष ने मौसम विभाग की पूर्व चेतावनी और बताए गए पूर्वानुमान के आधार पर कहा है कि खगड़िया के लिए भारी वर्षापात का पूर्वानुमान है अतः घर पर रहें और सुरक्षित रहें।

Next Story
Share it