Top
Action India

सता व विपक्ष के नेता भ्रष्टाचार की जांच की मांग कर रहे है तो जांच क्यों नहीं कराते मुख्यमंत्री : बतरा

रोहतक। एएनएन (Action News Network)

पूर्व गृह राज्यमंत्री सुभाष बतरा ने कहा कि प्रदेश में विकास कार्योंं को लेकर स्वयं सता पक्ष व विपक्ष के नेता भ्रष्टाचार की जांच की मांग उठा रहे है तो मुख्यमंत्री जांच क्यों नहीं करवा रहे है। उन्होंने कहा कि महम के विधायक कुंडू ने पूर्व सहकारिता मंत्री ग्रोवर पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि अगर यह बात है जांच का विषय बनता है। साथ ही उन्होंने महर्षि दयांनद विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति पर सवाल उठाए और कहा कि कुलपति की नियुक्ति नियमों को ताक पर रखकर नियुक्ति की गई है।

पूर्व गृहमंत्री सुभाष बतरा गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में जिस तरह से मुख्यमंत्री व गृहमंत्री आमने सामने है, वह गलत है। सीआईडी का अधिकृत क्षेत्र मुख्यमंत्री के अंतर्गत आता है और विज वेबजह ही इस मामले को विवादित बना रहे है। मुख्यमंत्री सर्वेसर्वा होता है, वह प्रदेश के गृह मंत्री रह चुके है और इस बारे में उन्हें अच्छी तरह पता है।

पूर्व सहकारिता मंत्री पर लगाए गए आरोपों को लेकर बतरा ने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला तक जांच की बात कह चुके है तो आखिर जांच शुरू क्यो नहीं हो रही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को इस मामले की जांच करानी चाहिए, जबकि पूर्व सीएम हुड्डा भी जांच की बात कर चुके है।

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में एक ही फर्म को सफाई, पार्कों के रख रखाव व रोहतक में शहर थाना की जगह पट्टे पर देने में करोड़ों रुपयों का भ्रष्टाचार किया है, इसलिए जांच जरूरी है। उन्होंने कहा कि मदवि के कुलपति प्रो. राजबीर की शैक्षणिक योग्यता को दरकिनार कर उनकी नियुक्ति की गई है, जोकि गलत है और हाईकोर्ट में भी यह मामला विचाराधीन है।

Next Story
Share it