Top
Action India

वाम दलों ने महाराष्ट्र घटनाक्रम पर राष्ट्रपति से की हस्तक्षेप की मांग

वाम दलों ने महाराष्ट्र घटनाक्रम पर राष्ट्रपति से की हस्तक्षेप की मांग
X

नई दिल्ली। एएनएन (Action News Network)

महाराष्ट्र में बदले राजनैतिक घटनाक्रम पर वाम दलों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने की मांग की है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने शनिवार को अलग-अलग बयान जारी कर कहा कि महाराष्ट्र के राज्यापाल ने जो भूमिका निभाई है, उससे सिद्ध हो गया कि भाजपा ने संसदीय परम्पराओं की अनदेखी करते हुए लोकतंत्र की हत्या की है।

भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अंजान ने कहा कि पिछले पांच सालों में भाजपा ने राज्यपाल पद का दुरुपयोग कर उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर, नगालैंड तथा अन्य राज्यों में भी इसी तरह सरकार का गठन किया है। भाजपा ने संविधान की धज्जियां उड़ाकर यह सरकार बनाई है। उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से अपील की है कि वह इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप कर संविधान की रक्षा करें।

माकपा पोलित ब्यूरो ने अपने बयान में कहा कि जिस तरीके से मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अजीत पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, उससे सिद्ध हो गया कि भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी कर सकती है। किसी भी हद तक गिर सकती है। उसने वही किया जो उसने गोवा, कर्नाटक तथा पूर्वोत्तर राज्यों में किया था। पार्टी ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि राजनीतिक इस्तेमाल के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और राज्यपाल कार्यालय का दुरुपयोग किया गया। पार्टी ने कहा कि वह आने वाले दिनों में महाराष्ट्र की गतिविधियों पर नज़र रखेगी।

Next Story
Share it