Top
Action India

भाजपा दिल्ली की जनता के साथ कर रही हैं धोखा: पाठक

भाजपा दिल्ली की जनता के साथ कर रही हैं धोखा: पाठक
X
  • 'पिछले करीब 6 महीनों से एमसीडी के कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन'

नई दिल्ली । एक्शन इंडिया न्यूज़

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी शासित एमसीडी अपने अस्पतालों को केजरीवाल सरकार को न सौंपकर दिल्ली की जनता के साथ धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और नार्थ एमसीडी के तत्कालीन मेयर रहे आदेश गुप्ता को बताना चाहिए कि जब उन्होंने 28 जुलाई 2018 को केंद्र सरकार को इन अस्पतालों की जिम्मेदारी संभालने का अनुरोध किया था, तो अब उन्हें इन अस्पतालों को दिल्ली सरकार को देने में क्या दिक्कत आ रही है। जब एमसीडी यह मान चुकी है कि वो अपने अस्पतालों को नहीं चला पा रही है, तो उसे अपने पास रखना एक तरह से आपराधिक लापरवाही है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने पार्टी मुख्यालय में एमसीडी के अंदर आने वाले अस्पतालों के संबंध में प्रेस वार्ता की। दुर्गेश पाठक ने कहा कि आज नॉर्थ एमसीडी का सदन है, जहां कर्मचारियों के वेतन पर चर्चा होनी है। पिछले करीब 6 महीनों से एमसीडी के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। केंद्र सरकार एक तरफ, कोरोना योद्धा डॉक्टरों के सम्मान में फूलों की बारिश कराती है।

वहीं दूसरी तरफए जब डॉक्टर अपना वेतन मांगते हैंए तो उनके साथ सिर्फ राजनीति की जाती है। डॉक्टर जब भी एमसीडी से वेतन मांगते हैंए तो उनको एक ही बात कही जाती है कि दिल्ली सरकार एमसीडी को फंड नहीं दे रही है। दुर्गेश पाठक ने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने एमसीडी को यह प्रस्ताव दिया था कि अगर आप अस्पताल नहीं चला पा रहे हैंए तो उन्हें दिल्ली सरकार को सौंप देंए लेकिन भाजपा शासित एमसीडी ने इसके ऊपर कोई सकारात्मक जवाब देने के बजाय राजनीति करनी शुरू कर दी। उन्होंने दिल्ली सरकार को यह अस्पताल सौंपने से मना कर दिया।

उन्होंने कहा कि 28 जुलाई 2018 को नॉर्थ एमसीडी के मेयर आदेश गुप्ता ने केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने केंद्र सरकार से अनुरोध किया था कि एमसीडी के अंदर आने वाले 6 मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों की जिम्मेदारी केंद्र सरकार संभाल लेए हम इस जिम्मेदारी को नहीं निभा पा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा शासित एमसीडी ने केंद्र सरकार से पत्र में हिंदू रावए कस्तूरबां गांधीए राजन बाबू टीबी अस्पतालए गिरधारी लालए महर्षि बाल्मीकि और बालक राम अस्पताल की जिम्मेदारी संभालने का अनुरोध किया था। पत्र में उन्होंने कारण बताते हुए कहा था कि पिछले दो.तीन सालों से एमसीडी को वित्तीय संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

अस्पतालों से जनता की उम्मीदों को हम पूरा नहीं कर पा रहे हैं। ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हो रहा है कि एमसीडी किसी विभाग को केंद्र सरकार को सौंप रही है। पत्र में कहा गया है कि इससे पहले एमसीडी फायर विभागए दिल्ली विद्युत बोर्ड और जल बोर्ड को सही तरीके से चलाने के लिए दिल्ली सरकार को सौंप चुकी है। अब हम चाहते हैं कि यह 6 अस्पताल केंद्र सरकार संभाल ले।

Next Story
Share it