Action India
लोकल टच

आम आदमी पार्टी में शामिल हुए मुकेश गोयल

आम आदमी पार्टी में शामिल हुए मुकेश गोयल
X

रवि भारद्वाज



दिल्ली . एक्शन इंडिया न्यूज़

दिल्ली के राजनीतिक अखाड़े में तेजी से अपनी पकड़ मजबूत करती जा रही। आम आदमी पार्टी की इन दिनों पौबारह है। विधानसभा चुनाव के बाद दिल्ली नगर निगम पर भी अपना परचम लहराने को आतुर केजरीवाल ने सबके लिए अपने पार्टी के दरवाजे खोल दिए है। इसी कड़ी में आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र में भी एक बड़ा उलट फेर होने वाला है। आपको बता दें कि दिल्ली की सियासत में आदर्शनगर विधानसभा का हमेशा एक महत्वपूर्ण स्थान रहा है। आदर्श नगर का प्रतनधित्व करने वाले वरिष्ठ कोंग्रेसी नेता मंगत राम सिंघल लंबे समय तक दिल्ली सरकार में मंत्री रहें। वही निगम के सबसे महत्वपूर्ण पद यानि समिति अध्यक्ष के तौर पर मुकेश गोयल ने भी एक लम्बा कार्यकाल देखा। अब जब निगम के चुनाव बिलकुल सिर पर है तो एक बार फिर सियासी उठापटक शुरू हो गयी है। इस सीट पर बड़ा उलटफेर होने वाला है

आदर्श नगर में हुआ बड़ा उलटफेर

आदर्श नगर विधानसभा के सभी निगम वार्डों से जित का स्वाद चख चुके मुकेश गोयल अपने दाल -बल के साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हो चुके है। दिल्ली में कांग्रेस की दयनीय स्थिति और अपनी उपेक्षा से परेशान होकर मुकेश गोयल अपने जीवन का सबसे बड़ा राजनितिक कदम उठाने जा रहें है। काफी लम्बे समय से कांग्रेस में अपने भविष्य को लेकर मुकेश गोयल विचारशील थे।

आदर्श नगर में अब ऐसे होंगे राजनीतिक हालत

आदर्श नगर के राजनीतिक इतिहास में दो नाम हमेशा चर्चा में रहें। पहला मंगत राम सिंघल और दूसरा मुकेश गोयल। कहने के तो ये दोनों कोंग्रेसी नेता है लेकिन इन दोनों की सियासत हमेशा उलटी दिशा में ही रही। एक ही पार्टी में रहते हुए दोनों नेताओं ने विरोध की राजनीति की। अलग -अलग धड़े बनाये लेकिन अपनी पकड़ कभी काम नहीं होने दी। अब जब मुकेश गोयल आम आदमी पार्टी का दमन थाम लिए तो कांग्रेस में मंगतराम सिंघल ही इकलौते सिरमौर होंगे। ये आदर्श नगर के राजनितिक इतिहास में पहली बार होगा जब ये दोनों नेता आमने सामने होकर एक दूसरे को अड़े हाथ लेंगे। इससे पहले तक तो अंदरखाते ही एक दूसरे का विरोध करते थे।

आदर्शनगर : आम आदमी पार्टी में होंगे दो पावर सेंटर

आदर्शनगर के राजनीतिक इतिहास में मंगत मुकेश के बाद केजरीवाल युग का उदय हुआ और पहली बार पवन शर्म विधायक बने। लगातार दो बार विधयक बनें पवन शर्मा ने क्षेत्र पर अपनी पकड़ मजबूत तो किया है साथ ही अपनी एक अलग फैन फॉलिविंग भी तैयार की। बहुत से लोग पवन शर्मा को इसलिए भी पसंद करते है क्योकि उनमें नेताओं वाली अकड़ नहीं है। सभी से खिलखिलाकर मिलना सभी के सुख - दुःख में शामिल होना और बहुत ज्यादा लग लपेटकर बात न करना, पवन शर्मा का सबसे बड़ा प्लस पॉइंट बन गया है। अब तक तो आम आदमी पार्टी की आदर्श नगर इकाई में पवन शर्मा का कद सबसे बड़ा है। उनके पास पार्टी के खालिस कार्यकर्ता और समर्थक है। लेकिन मुकेश के झाड़ू थामते ही पार्टी में वर्चस्व की लड़ाई होना तय है। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि जिस तरह कांग्रेस में दो पावर सेण्टर रहे। अब ठीक वैसे ही आम आदमी पार्टी में भी दो पावर सेण्टर होंगे। ऐसा इसलिए क्योकि मुकेश के साथ - साथ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी आप की टोपी पहनेगे। ऐसे में ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि एक छत के निचे पुराने और नए कार्यकर्ता आपस में सामंजस्य कैसे बैठाएंगे।

Next Story
Share it