Action India

बाराबंकी में भीषण सड़क हादसा 9 की मौत , 26 से ज्यादा घायल

बाराबंकी में भीषण सड़क हादसा 9 की मौत , 26 से ज्यादा घायल
X

लखनऊ . एक्शन इंडिया न्यूज़

भारत में हर रोज 415 लोग सड़क हादसों में मारे जाते हैं। कानून की सख्ती और जुर्माना अधिक होने के बावजूद लोग सड़क सुरक्षा को हल्के में लेते हैं। युवा वर्ग भी कई बार कानून को अनदेखा कर देता है और हादसे का शिकार होता है। भारतीय सड़कों पर महंगी से महंगी गाड़ियां दिख जाएंगी, मोटर साइकिल और कार फर्राटे भरती नजर आ जाएंगी लेकिन कड़वा सच यह भी है कि इन्हें चलाने वाले अधिकतर लोग मौका मिलते ही ट्रैफिक नियमों को तोड़ने से बाज नहीं आते हैं।

आधी रात के बाद हाईवे हो या शहर की सड़कें, इन पर बड़े वाहन का तेज रफ्तार से चलना आम बात है। महानगरों में नाबालिगों के गाड़ी चलाने के दौरान जानलेवा हादसे के मामले भी चिंता का विषय है। जिसका परिणाम यह होता है कि कई हादसों में तो परिवार एकदम उजड़ जाता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में हुआ जहाँ सुबह 4 बजे के करीब टूरिस्ट बस और ट्रक की टक्कर में 9 यात्रियों की मौत हो गई। जबकि 27 घायल हैं।

इनमें कई यात्री गंभीर स्थिति में हैं। ऐसे में मौतों की संख्या बढ़ सकती है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार सभी घायलों को अस्पताल शिफ्ट कराया गया है। बता दें कि बस दिल्ली से बहराइच जा रही थी। इसमें लगभग 60-70 यात्री सवार थे। हादसा देवा इलाके में बबुरी गांव के पास में हुआ। पुलिस ने बताया कि बस की स्पीड तेज थी और सड़क पर अचानक आई गाय को बचाने में ट्रक और बस की टक्कर हो गयी ।

हादसा इतना भयानक था कि इस टक्कर की आवाज काफी दूर तक गयी। जिससे ग्रामीण उठकर घटना वाली जगह पर पहुंचे और स्थानीय पुलिस और एम्बुलेंस को सुचना दी। हालांकि, बस में यात्रा कर रहे एक घायल महिला यात्री ने आरोप लगाया कि बस का ड्राइवर शराब के नशे में था । जिसकी वजह से इतना बड़ा हादसा हुआ। मौके पर फिलहाल पुलिस प्रशाशन और ndrf की टीम द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। जो भी लोग बस में अब भी फसे हुए है उन्हें निकालने के लिए बस को गैस कटर के द्वारा काटा जा रहा है। फिलहाल मरने वाले कौन है अभी तक इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है।

हादसे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। वहीं, जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने भी जिला अस्पताल पहुंच कर घायलों का हालचाल लिया। उन्होंने मृतकों के परिजन को दो-दो लाख और घायलों को 50 हजार रुपए सहायता राशि दी जाने की घोषणा की है।

आपको याद दिला दे की इसी साल जुलाई में भी बाराबंकी में बहुत बड़ा सड़क हादसा हुआ था जिसमे 19 से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी। जिसके बाद से प्रशासन ने कहा था कि शराब पीकर और तेज रफ़्तार में गाड़ी चलाने वालों के ऊपर कड़ी से कड़ी करवाई की जाएगी। लेकिन शायद उत्तर प्रदेश के सड़क विभाग के लोग केवल बोलने में ही विश्वास रखते है करके दिखने में नहीं।

Next Story
Share it