Action India
अन्य राज्य

लॉक डाउन में प्लास्टिक के गमलों में गायों के लिए उगाया मक्का

लॉक डाउन में प्लास्टिक के गमलों में गायों के लिए उगाया मक्का
X

ऋषिकेश । एएनएन (Action News Network)

जैव विविधता समिति खदरी खड़क माफ के अध्यक्ष पर्यावरणविद् विनोद जुगलान ने लॉक डाउन में पुरानी टूटी हुई प्लास्टिक क्रेट्स में मिट्टी भरकर गायों के लिए चारा उगाकर समस्याओं को आईना दिखाया है। उन्होंने प्लास्टिक क्रेट्स में गायों के लिए मक्का उगाया है। इससे वह गायों के लिए रोजाना हरे चारे की व्यवस्था करते हैं। उन्होंने बताया कि खदरी के खादर स्थित हजारों बीघा खेतों पर ग्रामीण सिंचाई के लिए ठाकुरपुर के समीप बंगाले नाले पर बने बांध और गूल का प्रयोग करते हैं। इस पर मरम्मत का कार्य चल रहा है। इसलिए उन्होंने गायों का पेट भरने के लिए गमलों में मक्का उगाया। यह प्लास्टिक क्रेट्स उन्होंने फल एवं सब्जी व्यवसायी प्रवीण अनेजा से लीं। ग्रामीण परिवेश में पले जुगलान न केवल कृषक हैं। वह दुपहिया वाहन उद्योग को पुर्जों की सप्लाई देने वाली प्रमुख ऑटो मोबाइल इंडस्ट्री के अधिकारी रह चुके हैं।

उन्होंने अपने निवास से सटे गोसदन की गोवाटिका में सब्जियां उगाई हैं। इससे पहले के लॉक डाउन की अवधि में गोवाटिका की क्यारियों में उगाए केलों को उन्होंने आसपास के 20 परिवारों के साथ बांटकर साझा किया। उन्होंने गमलों में औषधीय पादप भी उगाए हुए हैं। इनमें रामा-श्यामा और बद्रीश तुलसी के अतिरिक्त गिलोय, ब्राह्मी, स्टीविया, अश्वगन्धा, घृतकुमारी, पुदीना, पत्थरचट्टा, टमाटर, मिर्च और विभिन्न प्रकार के फूल शामिल हैं। जुगलान लॉक डाउन में ही अपने आंगन में जल संरक्षण कूप का निर्माण कर चुके हैं। वह रचनात्मक कार्यों से समाज को नई दिशा दे रहे हैं।

Next Story
Share it