Top
Action India

लॉक डाउनः सड़क पर पुलिस, घरों में रहे बाशिंदे

लॉक डाउनः सड़क पर पुलिस, घरों में रहे बाशिंदे
X

देहरादून। एएनएन (Action News Network)

कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉक डाउन के दौरान मार्च के आखिरी दिन मंगलवार को बैंक दिनभर खुले रहे। पुलिस सड़कों पर चौकन्ना रही। लोग सरकार की अपील का पालन करते हुए घरों से बेजवह बाहर नहीं निकले। हालांकि कुछ वाहनचालक बेवजह सड़कों पर घूमते दबोचे गए।आवश्यक सेवाओं की दुकानें निर्धारित अवधि तक खुली रहीं। सब्जी मंडी निरंजनपुर और आढ़त बाजार थोक व्यापारियों के लिए और राशन सहित अन्य आवश्यक सेवाएं दोपहर एक बजे तक जारी रहीं।

शहर के धार्मिक स्थलों ने लॉक डाउन में फंसे मजदूर परिवारों को भोजन और राशन सामग्री उपलब्ध कराई। जैमोटो और सीवीजी की ऑनलाइन फूड सर्विस जारी रही। सीवीजी के राजकुमार श्रीवास्तव ने बताया कि उन्होंने 12 घरों में डिलीवरी की। शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर सिविल डिफेंस ने भोजन वितरण किया।घंटाघर, बल्लूपुर चौक, दिलाराम, आईएसबीटी,जीएमएस रोड, निरंजनपुर, सहारनपुर चौक में पुलिस ने बेवजह घूमने वालों को रोककर पूछताछ की। उनके चालान किए।

सीपीयू पुलिस ने दुपहिया वाहनों के चालान काटे गए और चौपहिया वाहनों को वापस लौटा दिया। देहरादून जिले में बैंक दिनभर जरूर खुले रहे पर विभागीय लेनदेन 10 बजे के बाद हुआ। वित्तीय वर्ष की समाप्ति के कारण जिलाधिकारी ने दिनभर बैंक खोलने के निर्देश दिए थे। संक्रमण से बचाव के लिए पुलिस सक्रिय रही। राशन की दुकानों, डेयरी और मेडिकल स्टोर्स में सोशल दूरी का निरीक्षण करती रही।

इसके साथ ही मुनाफाखोरी रोकने के लिए जगह-जगह छापे मारे गए। एसपी (सिटी) श्वेता चौबे ने बताया कि पुलिस ने कोरोना के मद्देनजर अलग कंट्रोल रूम बनाया है। यह 24 घंटे काम कर रहा है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने लोगों से अपील की है कि वह बेवजह घरों से बाहर न निकलें। खुद और दूसरों के जीवन का ख्याल रखते हुए पुलिस और प्रशासन का सहयोग करें।

Next Story
Share it