Top
Action India

लॉकडाउन से खेती को बड़ा नुकसान

लॉकडाउन से खेती को बड़ा नुकसान
X

गुवाहाटी । Action India News

लॉकडाउन की वजह से दो भाइयों की आर्थिक रूप से कमर टूट गयी है। गोजीन रांग्हांग और नितीन रांग्हांग नामक दो भाइयों ने मिलकर सोनापुर क्षेत्र के नरताप गांव में 20 बीघा जमीन पर शिमला मिर्च, पपीता केला सहित अन्य फसल की खेती की थी। लॉकडाउन की वजह से पूरी खेती बर्बाद हो गयी। कारण तैयार फसल को बाजार नहीं मिला, जिसकी वजह से खेतों में ही फसल बर्बाद हो गई।

गोजीन ने कहा कि 03 बीघा में लगाया गया 12000 शिमला मिर्च के पौधे पूरी तरह बर्बाद हो गये। जिससे लगभग 06 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। वहीं पपीता के 500 पौधे में लगा पपीता भी पूरी तरह बर्बाद हो गया।

एक पपीते के पौधे से लगभग 30 किलो पपीता पैदा होता है। बाजार की कीमत प्रतिवर्ष लगभग 40 रुपये होती थी। वहीं 07 बीघा में लगाया गया मालभोग केला और जी नाइन केला पूरी तरह बर्बाद हो गया। हाइब्रिड घास भी हम गौ पालकों को मुहैया कराते। लेकिन, लॉकडाउन की वजह से पूरी फसल बर्बाद होने से हमें 12 से 13 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

फसल बर्बाद होने को लेकर नितीन रांग्हांग नामक किसान ने कहा कि समय रहते अगर सरकार सुध लेती तो आज किसानों की यह दशा नहीं होती। हम दो भाइयों का जो हाल हुआ है राज्य के ज्यादातर किसानों का भी यही हाल है।

नितीन ने कहा कि, किसानों के लिए सरकार के पास अभी करने के लिए बहुत कुछ है। अगर सरकार चाहती है कि आने वाले समय में किसानों का नुकसान न हो तो राज्य सरकार बैंक हाउस, कोल्ड स्टोर, फूड प्रोसेसिंग यूनिट आदि राज्य में बनाए। जिससे आने वाले समय में किसानों का भविष्य उज्जवल होगा।

अगर स्थिति ऐसी रही तो कोई भी किसान आने वाले दिनों में खेती करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएगा। अगर अन्नदाता ही अपने खेत तक नहीं जाएगा तो आम लोगों के किचन तक आहार कैसे पहुंचेगा।

Next Story
Share it