Action India
अन्य राज्य

वाराणसी में सड़कों और गलियों में पसरा सन्नाटा, फोर्स का चक्रमण

वाराणसी । एएनएन (Action News Network)

कोरोना महामारी के लगातार फैलाव को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन में बुधवार को वाराणसी में अघोषित कर्फ्यू जैसा नजारा दिखा। जिले में बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव की सख्या देख जिलाधिकारी के निर्देश पर सभी प्रकार की दुकानें, मंडी, व्यवसायिक गतिविधियां जहां बंद रही। वहीं सड़कों और गलियों में पुलिस के लगातार गश्त से चहुंओर सन्नाटा पसरा रहा।

संक्रमण को रोकने के लिए सर्तक पुलिस बल सड़कों पर इक्का-दुक्का लोगों को आते-जाते देख सख्त तेवर में घर से निकलने की वजह पूछ कर ही आगे बढ़ने दे रही थी। सही कारण न बता पाने वाले को उनके घर भेज दे रही थी। नगर के संवदेनशील क्षेत्र की सघन गलियां में रैपिड एक्शन फोर्स के जवान लगातार गश्त करते देखे गये। कैंट स्टेशन, रोडवेज और अंधरापुल पर आने-जाने वालों को रोककर पुलिस पूछताछ करती देखी गई। लक्सा और भेलूपुर क्षेत्र में क्षेत्रीय पुलिस लोगों से लाउड हेलर से भोजपुरी में घर में रहने के लिए अपील करती रही। लॉकडाउन का पालन करने और घरों से न निकलने की हिदायत भी देते रहे।

गौरतलब है कि जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा वाराणसी नगर निगम सीमा में प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव की संख्या देखते हुए एक दिन के लिए सभी प्रकार की दुकानें, मंडी, होम डिलीवरी, व्यवसायिक गतिविधियां बन्द रखने का निर्देश दिया था। केवल सरकारी कार्य और व्यवस्था में लगे लोग, सामाजिक भोजन के पैकेट देने वाली संस्था, सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल और दूध की होम डिलीवरी और उनसे जुड़े लोगों के आवागमन पर रोक नहीं थी। सब प्रकार के पास भी एक दिन के लिए निलंबित कर दिया गया। जिसका असर सड़कों और गलियों में दिखा।

Next Story
Share it