Top
Action India

कांगड़ा में लाॅकडाउन उल्लंघन के सबसे ज्यादा मामले, शिमला में सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां

शिमला । एएनएन (Action News Network)

हिमाचल प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए लगाए गए कफर्यू व लाॅकडाउन का उल्लंघर करने पर अब तक कुल 1225 एफआईआर हुई हैं। अकेले कांगड़ा जिला में सर्वाधिक 238 एफआईआर दर्ज की गई हैं। हालांकि इन मामलों में सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां शिमला जिला में हुईं। शिमला में कफर्य उल्लंघन के 147 मामलों में 211 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं। जबकि कांगड़ा में इन मामलों में 210 आरोपित गिरफतार किए गए।

राज्य के सभी 12 जिलों में कफर्यू-लाॅकडाउन उल्लंघन के मामले सामने आए हैं। लाहौल-स्पीति एकमात्र जिला है, जहां सबसे कम तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं और दो आरोपित गिरफतार हुए हैं। लाॅकडाउन-कफर्यू उल्लंघन के मामले में कांगड़ा व शिमला के अलावा कुल्लू, सिरमौर और बिलासपुर में भी 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
कुल्लू व सिरमौर जिलों में पुलिस ने 80-80 एफआईआर दर्ज कीं, वहीं सिरमौर में 132 और कुल्लू में 104 आरोपितों को गिरफतार किया गया। बिलासपुर में उल्लंघन की 93 एफआईआर में 101 आरोपी सलाखों के पीछे गए। हालांकि मंडी जिला में जहां 167 प्राथमिकी दर्ज की गईं, वहीं सिर्फ 29 आरोपितों की गिरफतारी हुई।

उना में लाॅकडाउन-कफर्यू तोड़ने की 87 एफआईआर में 58 आरोपी गिरफतार हुए हैं। जबकि सोलन में ऐसी 82 एफआईआर में 59 आरोपी सलाखों के पीछे पहुंचाए गए। इसी तरह चंबा व हमीरपुर में 76 व 49 मामलों में 77 और 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस जिला बद्दी में दर्ज 93 मामलों में 34 गिरफतारियां और किन्नौर में 30 मामलों में 30 गिरफतारियां हुई हैं।
प्रदेश पुलिस प्रवक्ता खुशहाल शर्मा ने गुरूवार को बताया कि पूरे प्रदेश में कफर्यू-लाॅकडाउन का सख्ती के साथ पालन किया जा रहा है। बीते 24 घंटों के दौरान नियम तोड़ने के 42 मामलों में 46 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस अब तक 976 वाहनों को जब्त कर 15.87 लाख रूपये जुर्माना वसूला चुकी है। सबसे ज्यादा 281 वाहन उना जिला में जब्त किए गए, जहां विभाग ने 74 हजार 400 रूपये जुर्माना अर्जित किया।

वहीं सर्वाधिक जुर्माना मंडी जिला की पुलिस ने वसूला है। मंडी में 126 वाहनों को जब्त कर 6 लाख 5 हजार 700 रूपये जुमाना वसूला गया है। इसी तरह कुल्लू जिला में 47 वाहनों को सीज कर दो लाख 40 हजार 400 रूपये जुमार्ना लिया गया। शिमला जिला में 150 वाहन जब्त कर एक लाख चार हजार दो सौ रूपये जूर्माना वसूला गया। लाहौल-स्पीति और हमीरपुर में क्रमशः दो और चार वाहन ही जब्त हुए हैं, जिनमें 13 हजार 800 और 81 हजार 500 रूपये जुर्माना डाला गया।

अहम बात यह रही कि जनजातीय जिला किननौर में नियम तोड़न वाले 9 वाहनों को सीज कर 1.41 लाख रूपये जुर्माना वसूला गया। जिला सोलन में 59 वाहनों को जब्त कर 61 हजार 200 तथा सिरमौर में 37 वाहनों को जब्त कर 6 हजार रूपये जुर्माना वसूला गया। सबसे बड़े कांगड़ा जिला में नियमों के उल्लंघन करने पर 70 वाहनों को जब्त कर 7600 रूपये जुर्माना जबकि चंबा में 92 वाहनों को जब्त कर दो लाख 20 हजार जुर्माना डाला गया।

Next Story
Share it