Action India
अन्य राज्य

शराब की दुकान पर लगी सुरा के तलबगारों की लंबी कतारें

शराब की दुकान पर लगी सुरा के तलबगारों की लंबी कतारें
X

जयपुर । एएनएन (Action News Network)

राजस्थान में लंबे इंतजार के बाद सोमवार को शराब की दुकानें खुली। प्रदेश के कई जिलों में ठेकों के बाहर सुरा के तलबगारों की लंबी लाइनें लग गई। कई दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं की गई। ऐसे में उन दुकानों को भीड़ के मद्देनजर पुलिस प्रशासन द्वारा बंद करवा दिया गया। कई जगह दुकान खोलने से पहले ही शराब के दीवाने वहां पहुंच गए। 42 दिन बाद शराब की दुकानें खुलने से दुकानों पर निरोधक दल के जवानों की मौजूदगी में शराब की बिक्री की गई।

लॉकडाउन के तीसरे चरण में मिली छूट के बाद सोमवार से प्रदेश के सभी जिलों में शराब की दुकानें खुल गई हैं। लॉकडाउन के तीसरे चरण की गाइडलाइन के बाद राज्य के वित्त एवं आबकारी विभाग ने शराब की दुकानें खोलने के सशर्त निर्देश जारी किए थे। आदेश के अनुसार शराब की दुकानें सुबह 10 से शाम 6 बजे तक खुलेंगी। ग्रीन जोन वाले जिलों में सभी स्वीकृत दुकानें खुलेंगी, वहीं ऑरेंज और रेड जोन में कफ्र्यूग्रस्त, कंटेनमेंट जोन और हॉटस्पॉट को छोडक़र अन्य सभी जगह दुकानें खुलेंगी।

नए निर्देशों के मुताबिक सभी जगह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, मास्क और सेनेटाइजर का उपयोग अनिवार्य रूप से करने के आदेश दिए गए थे। शराब की दुकानों के साथ भांग की दुकानों पर भी ये कायदे लागू किए गए हैं। इसके बावजूद शराब की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हुई। दुकानों पर 5 से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर भी रोक हैं, बावजूद इसके कई जिलों में इस नियम की धज्जियां उड़ी। राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर शराब पीने पर 500 रुपये जुर्माना राशि का प्रावधान किया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लॉकडाउन के चलते राज्य की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है। राज्य में लॉकडाउन लागू हुए सवा महीने से अधिक का समय हो गया है। मार्च और अप्रैल के महीने में सरकार को करोड़ों के राजस्व का नुकसान हुआ है। शराब की दुकानें खोलने की अनुमति मिलने से सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी होने की उम्मीद है।

Next Story
Share it