Top
Action India

लखनऊ-आनंद विहार स्पेशल ट्रेन में 16 मार्च तक सीटें खाली

लखनऊ-आनंद विहार स्पेशल ट्रेन में 16 मार्च तक सीटें खाली
X

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

राजधानी लखनऊ से दिल्ली वापस जाने के लिए लखनऊ-आनंद विहार स्पेशल ट्रेन में 12 से 16 मार्च के बीच स्लीपर क्लास में सीटें खाली हैं ,जबकि थर्ड एसी में आरएसी और सेकंड एसी में भी कुछ सीटें बची हुई हैं।

मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी पंकज कुमार ने बताया कि 'डायनेमिक फेयर' के चलते लखनऊ से दिल्ली और मुम्बई जाने वाली कई ट्रेनों का किराया गुरूवार को विमान के किराए के करीब पहुंच गया है। लखऊ मेल के प्रीमियम कोटे में थर्ड एसी का टिकट 2420 रुपये और सेकंड एसी का किराया 2780 रुपये पहुंच गया है। वाराणसी-आनंद विहार स्पेशल में तीन सौ से अधिक की वेटिंग है। एसी एक्सप्रेस में थर्ड एसी की वेटिंग 270 व सेकंड एसी में 115 वेटिंग है। वहीं शताब्दी एक्सप्रेस की चेयरकार में 229 वेटिंग और अनुभूति कोच में 22 वेटिंग है।

उन्होंने बताया कि लखनऊ-आनंद विहार स्पेशल ट्रेन में शुक्रवार से 16 मार्च तक स्लीपर में सीटें खाली है। जबकि थर्ड एसी, आरएसी और सेकंड एसी में कुछ ही सीटें बची हैं। गुरुवार को तेजस एक्सप्रेस की चेयरकार का किराया दो हजार पार कर गया और एग्जीक्यूटिव चेयरकार का किराया 3621 रुपये हो गया है। होली की छुट्टियों के बाद मुम्बई और दिल्ली वापस जाने वाले अधिकांश लोगों ​को काफी मसक्कत करनी पड़ी रही है।

ट्रेनों से वापसी करने वाले यात्रियों को सीटें नहीं मिलने की वजह से दिक्कतें हो रही हैं। होली के बाद ट्रेनों से वापसी के लिए यात्री एक-एक सीट के लिए मारामारी कर रहे हैं,जबकि लम्बी दूरी की ट्रेनों में वेटिंग अधिक है। ट्रेन के प्रीमियम और तत्काल कोटे में सीटें तो हैं पर 'डायनेमिक फेयर' की वजह से ट्रेन का किराया हवाई जहाज के किराए के करीब पहुंच गया। गुरुवार को लखनऊ से मुम्बई के लिए पुप्पक ट्रेन का किराया 4000 रुपये पार कर गया है।

दरअसल,रेलवे की डायनामिक किराया प्रणाली वह प्रणाली है जिसमें किराया मांग के मुताबिक तय होता है। इसके तहत 10 प्रतिशत सीटों की बुकिंग हो जाने के साथ ही किराया 10 प्रतिशत बढ़ जाता है। इसके साथ ही जैसे-जैसे सीटें कम होती जाती हैं वैसे-वैसे किराया बढ़ता जाता है।

Next Story
Share it