Top
Action India

साधुओं की क्रूर हत्या के विरोध में लॉकडाउन समाप्त होते ही संत करेगे महाराष्ट्र में कूच! महंत शांतिगिरी जी महाराज

साधुओं की क्रूर हत्या के विरोध में लॉकडाउन समाप्त होते ही संत करेगे महाराष्ट्र में कूच! महंत शांतिगिरी जी महाराज
X

कठुआ । एएनएन (Action News Network)

लखनपुर स्थित किले वाले मंदिर के महंत शांतिगिरी महाराज और मंदिर में मौजूद जूना अखाड़े के संतों ने पालघर और बुलंदशहर में संतों की हुई निर्मम हत्या की कड़ी निंदा करते हुए उन महान संतों को दीपक जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद संत समाज आंदोलन करेगा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में साधुओं की क्रूर हत्या के विरोध में लॉकडाउन समाप्त होते ही हिंदू भगवा दल न्याय यात्रा निकाल कर महाराष्ट्र कूच करेगा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के पालघर में हिंसक भीड़ ने श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के संत कल्पवृक्ष गिरी महाराज एवं सुशील गिरी महाराज की हत्या कर दी उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के पालघर में हुई इस घटना मानवता के लिए एक शर्मनाक है।

महाराष्ट्र की घटना की निंदा करते हुए किले वाले मंदिर में आए जूना अखाड़े के संतों ने कहा कि भारत में यदि कहीं भी सनातन धर्म संस्कृति और संतों के साथ दुर्व्यवहार होगा तो आर-पार की लड़ाई लडने के लिए बाध्य होंगे। इसकी सारी जिम्मेदारी वहां की सरकार की होगी। उन्होंने कहा कि हम सनातन धर्म संस्कृति योद्धाओं को लेकर महाराष्ट्र में तब तक आंदोलन करेंगे जब तक न्याय नहीं मिल जाता है।

संतों ने महाराष्ट्र सरकार से दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश में कोरोना वायरस महामारी से हाहाकार मचा हुआ है, वहीं इस बीमारी के चलते देशभर में लाॅकडाउन की स्थिति बनी हुई है। लेकिन आखिर कौन लोग इस लॉकडाउन के दौरान धर्म पर राजनीति करना चाहते हैं। इस अवसर पर जूना अखाड़े से आए दर्जनों संत, शिवइंद्र, दिवेंद्र सिंह, भुनेंद्र सिंह, अंबिका दुबे, राहुल, ज्ञान सिंह, मंगा दुबे सहित अन्य मौजूद रहे।

Next Story
Share it