Top
Action India

ममता के मंत्री ने राज्यपाल पद की प्रासंगिकता पर उठाये सवाल

ममता के मंत्री ने राज्यपाल पद की प्रासंगिकता पर उठाये सवाल
X

कोलकाता। एएनएन (Action News Network)

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी रस्साकशी के बीच राज्य के संसदीय मामलों और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने बुधवार को विधानसभा में राज्यपाल पद की प्रासंगिकता को चुनौती दे डाली। उन्होंने कहा कि जनता के द्वारा चुनी गई लोकप्रिय सरकार के उपर छड़ी घुमाने वाले की आवश्यकता है अथवा नहीं इस पर चर्चा होनी चाहिये।

इतना ही नहीं उन्होंने राज भवन के खर्च पर भी सवाल खड़ा किया। राज्यपाल की तुलना अंग्रेजों के जमाने के लाट साहब से करते हुए उन्होंने कहा कि राज्यपाल जनप्रिय सरकार की उपेक्षा कर रहे है। इससे चुनी हुई सरकारों को अपनी राजनीतिक व आर्थिक नीतियों को क्रियान्वित करने में दिक्कतें आती हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 3 सालों में राजभवन का खर्च 2 से ढाई गुना बढ़ गया है। दरअसल हाल के दौर में राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच विभिन्न मुद्दों पर वाक युद्ध चल रहा है।

मंगलवार को विधानसभा में आयोजित संविधान दिवस समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने राज्य सरकार के रवैये पर सवाल खड़ा किया था और पूछा था कि आखिर जब राजभवन में संविधान दिवस का आयोजन पहले से कर दिया गया था तो उसी दिन उसी समय पर सरकार ने आयोजन क्यों किया? इसी के परिपेक्ष्य में बुधवार को विधानसभा में पार्थ चटर्जी ने राज्यपाल पद की प्रासंगिकता को चुनौती दी।

Next Story
Share it