Top
Action India

भगवान विष्णु के योग निद्रा में जाने से शादी पर ब्रेक, अब दो दिसम्बर से गूंजेगी शहनाई

भगवान विष्णु के योग निद्रा में जाने से शादी पर ब्रेक, अब दो दिसम्बर से गूंजेगी शहनाई
X

बेगूसराय । एएनएन (Action News Network)

कोरोना के कहर ने इस वर्ष तमाम अन्य कार्यों के साथ शादी-विवाह पर भी ब्रेक लगा दिए। लॉकडाउन रहने के कारण लोग विवाह नहीं करवा सके, अब अनलॉक हुआ और कुछ छूट मिली तो सनातन परंपरा के अनुसार विवाह का शुभ लग्न ही समाप्त हो गया।

बुधवार को देवशयनी एकादशी थी और रात में बड़ी संख्या में विवाह संपन्न कराए गए। इसके साथ ही भगवान विष्णु योग निद्रा में चले गए हैं और अब पांच माह के बाद ही शादी हो सकेगी। हालांकि बनारसी पंचांग में जून माह में अभी शादी के लिए शुभ मुहूर्त 25, 26 एवं 28 को है।

लेकिन गंगा से पूरब और उत्तर मिथिला पंचांग के अनुसार शादी होती है, उसके कारण अभी शादी नहीं होगी। जरूरतमंद लोग पांच जुलाई को पूर्णिमा तक मंदिरों में शादी कर सकते हैं। अब दस नवम्बर को देवोत्थान एकादशी के मौके पर क्षीर सागर में सोये भगवान श्रीहरि विष्णु योगनिद्रा से जगाए जाएंगे।

इसके बाद देवोत्थान एकादशी के साथ मांगलिक कार्य शुरू हो जाने का विधान है। लेकिन इस वर्ष सूर्य के नीच राशि में विद्यमान रहने के कारण विवाह का मुहूर्त दो दिसम्बर से शुरू होगा। पंडित आशुतोष झा ने बताया कि विवाह के मुहूर्त में वर के लिए सूर्य और कन्या के लिए बृहस्पति की स्थिति देखी जाती है।

इसलिए इन दोनों ग्रहों के राशि परिवर्तन से नए हिन्दू पंचांग वर्ष में विवाह के कई शुभ मुहूर्त बन रहे हैं। तुला राशि में सूर्य के होने से विवाह नहीं होते हैं। जिसके कारण बंद पड़ी शहनाई की गूंज दो दिसम्बर से सुनने को मिलेगी, 14 दिसम्बर तक लग्न है, उसके बाद खरमास रहने के कारण फिर से लग्न बंद होंगे और 17 फरवरी से शुरुआत होगी।

विवाह संस्कार में तिथि को शरीर, चंद्रमा को मन, योग एवं नक्षत्रों को शरीर का अंग और लग्न को आत्मा माना गया है। यदि विवाह लग्न के निर्धारण में गलती होती है तो यह एक गंभीर दोष माना जाता है।

मिथिला पंचांग के अनुसार नए सीजन में विवाह के शुभ मुहूर्त हैं :- दिसम्बर- 2, 6, 7, 10, 11 एवं 14 फरवरी- 17, 19 एवं 21 अप्रैल- 16, 21, 22, 23, 25, 26, 28, 29 एवं 30 मई- 2, 3, 7, 9, 12, 13, 19, 20, 21, 23, 24, 26, 27, 28, 30 एवं 31 जून- 4, 6, 10, 11, 20, 21, 24, 25, 27 एवं 28जुलाई- 1, 4, 7, 12, 14 एवं 15

बनारसी पंचांग के अनुसार विवाह के शुभ मुहूर्त हैं :- नवम्बर- 25, 17,19, 30दिसम्बर- 1, 7, 9, 10, 11जनवरी- 18फरवरी- 15, 16अप्रैल- 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29, 30मई- 1, 2, 7, 8, 9, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 26, 28, 29, 30जून- 3, 4, 5, 20, 22, 23, 24जुलाई- 1, 2, 7, 13, 15

Next Story
Share it