Action India
अन्य राज्य

दामोदर नदी पर पुल बना रही कंपनी के दो कर्मचारियों को लेवी के लिए किया गया अगवा

दामोदर नदी पर पुल बना रही कंपनी के दो कर्मचारियों को लेवी के लिए किया गया अगवा
X

रामगढ़ । एएनएन (Action News Network)

रामगढ़ और बोकारो जिले की सीमा पर पुल बना रही एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के दो कर्मचारियों को लेवी के लिए अगवा कर लिया गया है। टीपीसी नामक नक्सली संगठन के लोगों ने कुमार एंड रॉय कंपनी के नाइट गार्ड और ऑपरेटर को अगवा किया है। शनिवार को जैसे ही यह मामला सामने आया पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। इस इलाके में टीपीसी नक्सली संगठन काफी सक्रिय है। लॉक डाउन के दौरान नक्सलियों ने इस अपहरण की घटना को अंजाम देकर पुलिस पदाधिकारियों को भी चौंका दिया है। रामगढ़ और बोकारो पुलिस इस पूरे इलाके में छापेमारी अभियान चला रही है, ताकि अगवा किए गए कर्मचारियों को जल्द से जल्द बरामद किया जा सके। यह पूरी घटना शुक्रवार की देर रात लगभग 11:30 बजे रजरप्पा मां छिन्नमस्तिका मंदिर के समीप दामोदर नदी में बन रहे पुल निर्माण स्थल पर हुई है।

शनिवार को कंपनी के मालिक राजू राय ने बताया कि यह पुल रामगढ़ और बोकारो जिले को जोड़ने के लिए बनाई जा रही है। पुल पार करते ही रामगढ़ के लोग बोकारो जिले के महुआटांड़ थाना क्षेत्र में प्रवेश कर जाएंगे। यह पुल 16 करोड़ की राशि से बनाई जा रही है।कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक राजू राय ने बताया कि रात में उनका नाइट गार्ड घघरी गांव निवासी मुकेश मुर्मू और रोलर ऑपरेटर लातेहार जिले के मनिका गांव निवासी टुन्नू भुइंया साइट पर मौजूद थे। 8-10 की संख्या में लोग उनकी साइट पर पहुंचे। उनमें से कुछ लोगों के पास हथियार भी था। उन लोगों ने पहले कर्मचारियों से मोबाइल नंबर मांगा और उसके बाद फिर दोनों को साथ लेकर चले गए।

चार महीने में किसी नक्सली का नहीं आया फोन

कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक ने बताया कि वे 4 महीने से कार्य में लगे हुए हैं। लेकिन लेवी के लिए उनके पास किसी भी नक्सली या रंगदारी के लिए किसी भी व्यक्ति का फोन नहीं आया। अचानक हुई इस घटना के बाद वह खुद परेशान हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने दोनों ही जिलों के वरीय पुलिस पदाधिकारियों से संपर्क किया है। जिन लोगों ने अपहरण की इस घटना को अंजाम दिया है, उन लोगों ने कोई भी मैसेज उनके कर्मचारियों तक नहीं छोड़ा है।इस पूरे प्रकरण में रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि अपहरण की घटना रामगढ़ और बोकारो जिले के सीमा पर घटी है। घटनास्थल बोकारो जिले के महुआटांड़ थाना क्षेत्र में पड़ता है। अगर बोकारो पुलिस प्रशासन उनसे मदद मांगता है, तो वे पीछे नहीं हटेंगे। रामगढ़ जिले में सुरक्षा के दृष्टिकोण से उन्होंने एलआरपी चलाने का निर्देश दिया है। साथ ही रजरप्पा पुलिस को भी अलर्ट पर रखा है।

Next Story
Share it