Top
Action India

अपने जन्मदिन पर मायावती ने की प्रेस वार्ता, कहा मौजूदा केन्द्र सरकार की नीतियां गलत

अपने जन्मदिन पर मायावती ने की प्रेस वार्ता, कहा मौजूदा केन्द्र सरकार की नीतियां गलत
X

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्षा मायावती ने अपने 64वां जन्मदिन पर मीडिया प्रतिनिधियों और देशवासियों को नये वर्ष-2020 की हार्दिक शुभकामनाएं दी और कहा कि मेरे जन्मदिन पर बसपा के कार्यकर्ता पूरे देश भर में ज्योतिबाफूले, डा. भीमराव आम्बेडकर व कांशीराम जैसे महापुरूषों को स्मरण कर जन कल्याणकारी दिवस के रूप में मना रहे हैं।

मायावती ने अपनी प्रेस वार्ता शुरू करते हुए कहा है कि मेरा जन्मदिन पार्टी के लोग हमेशा से जन कल्याणकारी दिवस के रूप में मनाते रहे हैं। मैं उन सभी लोगों का आभार और धन्यवाद् करती हूं। कहा कि हमारी पार्टी हमेशा गरीब, कमजोर, वंचित, शोषित और असहाय लोगों के कल्याण के कार्य करती है। इस अवसर पर मैं एक बार फिर बसपा कार्यकर्ता से कहूंगीं की वे गरीब और असहायों की मदद करें।

केन्द्र सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि 130 करोड़ देश की जनता के समक्ष आज आर्थिक और सामाजिक संकट गहरा गया है। देश की अर्थव्यवस्था बीमारू हालात में पहुंची है। बेरोजगारी चरम सीमा पर है, युवा हताश है। केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण लोगों के सामने रोज ​तकलीफें आ रही हैं।

जनता के लिए दुर्भाग्य है कि भाजपा भी कांग्रेस के राह पर चल चुकी है। कहा हमारी पार्टी का नागरिकता संशोधन विधेयक(सीएए) पर स्टैंड बिल्कुल स्पष्ट है। यह विभाजनकारी है, इस कानून से हम सहमत नहीं है। यह कानून सबको साथ लेकर चलने वाला नहीं है। इसमें मुसलमानों को भी शामिल करना चाहिए। बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला और कहा कि यह पार्टी सिर्फ राजनीतिक रोटी सेंक रही है।

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि केन्द्र सरकार की देशविरोधी नीतियों के कारण कानून व्यवस्था आज नाजुक हालात में पहुंच चुका है। कांग्रेस की शासन में जैसी दुर्दशा थी, वैसे ही भाजपा के शासन में भी है। कहा कि मौजूदा केन्द्र सरकार की नीतियां गलत है। कांग्रेस सरकार में भी ऐसी हालत नहीं थी। देश में छोटे उद्योग धन्धे बन्द हो रहे हैं। कहा योगी सरकार भी असफल है।

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि केन्द्र सरकार अपनी तुलना कांग्रेस पार्टी से करके बच नहीं सकती है। देश में हिंसा और अराजकता का माहौल है। देश की जनता आज परेशान है। देश गलत, निगेटिव कारणों से चर्चा में है। और कांग्रेस पार्टी राजनीतिक रोटी सेंक रही है। बीजेपी को जनहित के कार्यो पर विचार करना चाहिए। बीजेपी को अपने वादों पर चलना चाहिए। बीजेपी, कांग्रेस के शासनकाल से दो कदम आगे है। देशहित के मामलों में बीजेपी असफल साबित हुई है।

मायावती ने कहा कि केन्द्र सरकार को सीएए और एनआरसी जैसे कानून से बचते हुए 130 करोड़ की जनता के विकास के लिए कार्य करना चाहिए। केन्द्र सरकार की योजनाओं से सबसे ज्यादा सर्वसमाज के लोग प्रभावित हुए हैं। इस सरकार में एसएसी-एसटी लोगों के लिए नौकरी में कोई विशेष व्यवस्था नहीं है। कहा​कि बसपा पार्टी को कमजोर, असहाय, गरीब, नौजवान, छात्र-छात्राओं को खुलकर समर्थन करना चाहिए। हमारी पार्टी कांग्रेस, भाजपा या अन्य पार्टियों की तरह जुमलेबाजी नहीं करती है।

जन्मदिन के अवसर पर मायावती ने बीते वर्ष में पार्टी की गतिविधियों पर लिखी गई अपनी पोस्टल 'ब्लू बुक-मेरे संघर्षमय जीवन एवं बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा' का भी विमोचन किया। उल्लेखनीय है कि ब्लू बुक का यह 15वां संस्करण है, यह पुस्तक हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध है।

Next Story
Share it