Action India
झारखंड

चुनाव में अनुकूल वातावरण तैयार करे मीडिया, मतदाताओं को करे जागरूक : विनय चौबे

चुनाव में अनुकूल वातावरण तैयार करे मीडिया, मतदाताओं को करे जागरूक :  विनय चौबे
X

रांची। एएनएन (Action News Network)

झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने कहा कि विधानसभा चुनाव के सफल संचालन में मीडिया का अहम रोल है। मीडिया की पहुंच जन-जन तक होती है। मतदाताओं को जागरूक करने में उनकी भूमिका और बढ़ जाती है। चौबे शनिवार को विधानसभा चुनाव को लेकर प्रसार भारती की ओर से आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मीडिया से चुनाव के प्रति अनुकूल वातवरण तैयार करने को कहा, ताकि ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं की निर्वाचन प्रक्रिया में सहभागिता सुनिश्चित की जा सके।

चौबे ने कहा कि दूरदर्शन और आकाशवाणी का अपना ही महत्व है। पब्लिक ब्रॉडकास्टर होने के नाते दूरदर्शन औऱ आकाशवाणी मतदाताओं को इस तरह जागरूक करें कि वह बिना किसी भय, पक्षपात, डर और प्रलोभन में आए नैतिक मतदान करें। समाचारों के माध्यम से लोगों को चुनाव से संबंधित जानकारी लगातार देते रहें। इसके अलावा मतदाताओं को निर्वाचन आयोग के नए इनिशिएटिव और उन्हें उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं की भी जानकारी दें।

उन्मुखीकरण कार्यशाला में दूरदर्शन के निदेशक आरके राव, आकाशवाणी पटना के सहायक निदेशक केके लाल, दूरदर्शन रांची के समाचार एकांश के प्रमुख दिवाकर कुमार, आकाशवाणी रांची की संवाददाता शिल्पी शर्मा, समाचार वाचक पूनम केरकेट्टा और आकाशवाणी व दूरदर्शन के समाचार संपादक और जिलों से आए प्रसार भारती के संवाददाता मौजूद थे।

स्वीप एक्टिविटीज में मीडिया निभाएं सशक्त रोल

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि विभिन्न माध्यमों द्वारा चलाए जा रहे स्वीप कार्यक्रमों को लेकर मीडिया सशक्त रोल निभाए। उन्होंने कहा कि स्वीप का मकसद सिर्फ मतदाताओं को मतदान प्रतिशत बढ़ाने तक सीमित नहीं है, बल्कि निर्वाचन प्रक्रिया में उन्हें शामिल करने के लिए जागरूक भी करना है। इसके साथ ही मतदाताओं को नैतिक मतदान के लिए प्रेरित करना भी इसका एक अहम उदेश्य है। इससे भारतीय लोकतंत्र को मजबूती मिलेगी।

जनता के मुद्दों को तरजीह दें, समाचारों में संतुलन बनाए रखें

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि मीडिया को चाहिए कि वह समाचारों के संकलन और उसके प्रकाशन-प्रसारण में जनता के मुद्दों को तरजीह दे। उन्होंने मीडिया को जनता के प्रति जवाबदेही को देखते हुए पेड न्यूज से बचने की आवश्यकता पर बल दिया। कहा, समाचारों के संकलन में वे निष्पक्षता और पारदर्शिता बरतें। संतुलन बनाए रखें, ताकि मतदाता समाचारों को लेकर किसी तरह से दिग्भ्रमित नहीं हों।

सिर्फ न्यूज दें, व्यूज नहीं, पेड न्यूज पर बरतें सावधानी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि चुनाव से संबंधित समाचारों को लेकर मीडिया को सतर्क व सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मीडिया सिर्फ न्यूज दे और व्यूज से दूर रहे। उन्होंने पेड न्यूज से जुड़े प्रावधानों के बारे में भी बताया। कहा, किसी समाचार पत्र अथवा इलेक्ट्रॉनिक चैनल में पेड न्यूज का प्रकाशन अथवा प्रसारण होता है तो जनप्रतिनिधित्व कानून-1951 के तहत कार्रवाई का प्रावधान है।

मतदाताओं को दी जाने वाली सुविधाओं की दें जानकारी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने प्रसार भारती से कहा कि वे अपने समाचारों के जरिए मतदाताओं को यह बताएं कि उनके लिए भारत निर्वाचन आय़ोग की ओर से क्या-क्या सुविधाएं दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि सभी मतदान केंद्रों में पेयजल, शौचालय, रोशनी औऱ बैठने की व्यवस्था समेत मिनिमम एश्योर्ड फैसिलिटी उपलब्ध रहेगी। इसके साथ दिव्यांग मतदाताओं के लिए ह्वील चेयर और रैंप के साथ सहयोग करने के लिए वॉलेंटियर्स मौजूद रहेंगे। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि राज्य के सात विधानसभा क्षेत्रों में दिव्यांग और 80 साल से ज्यादा आय़ु वर्ग के मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट से उनके घर पर ही मतदान करने की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इसके अलावा दस विधानसभा क्षेत्रों में बूथ एप्प का इस्तेमाल किया जाएगा। इस बार मतदाताओं को मतदान केंद्र में क्यू में लगने की जरुरत नहीं होगी। मतदाताओं को टोकन नंबर दिये जाएंगे, जिसके बाद वे अपना सीरियल नंबर आने पर मतदान कर सकेंगे।

Next Story
Share it