Action India
अन्य राज्य

मुख्यमंत्री को खून से खत लिख जनता की प्यास बुझाने को धरने पर बैठे विधायक

मुख्यमंत्री को खून से खत लिख जनता की प्यास बुझाने को धरने पर बैठे विधायक
X

  • अधिकारियों ने दिया था झूठा आश्वासन, तीन दिन से जारी है धरना

कानपुर । एएनएन (Action News Network)

मौसम का मिजाज भले ही रोज बदल रहा हो पर उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत फिलहाल नहीं मिलती दिख रही है। ऐसे में अगर पीने का पानी आमजनमानस को न मिले और अधिकारी सुनने को तैयार न हो तो एक ही सहारा जनप्रतिनिधि होता है।

इसी को लेकर जनता की प्यास बुझाने के लिए सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी आज तीसरे दिन भी धरने पर बैठे हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से खत भी लिखा कि क्षेत्र की जनता को इस भीषण गर्मी में पानी की व्यवस्था करायी जाये।

आर्य नगर से समाजवादी पार्टी के विधायक अमिताभ बाजपेयी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से चिठ्ठी लिखी है। दरअसल सपा विधायक अपने क्षेत्र में लोगों का आ रही पेयजल की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए पिछले तीन दिन से अनिश्चितकालीन हठयोग धरने पर बैठे हैं।

विधायक का कहना है कि एक साल से अधिक समय बीतने के बाद भी गंगा बैराज से जलापूर्ति की लाइन को उनके कई क्षेत्रों से जोड़ा नहीं गया है। जिसके चलते लोगों को पेयजल की गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है। इतना ही नहीं लोग इस कोरोना काल में पानी के लिए बाहर लंबी लंबी कतारें लगाते हैं, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा बना है।

विधायक अमिताभ बाजपेयी का आरोप है कि अधिकारियों से लगातार वो शिकायत करते रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। जिसके बाद वो धरने को मजबूर हुए। उनके मुताबिक उनके क्षेत्र में इस समस्या का हल ना होने तक वो धरने पर बैठे रहेंगे। बताते चलें कि करीब दो सप्ताह पहले भी बृजेन्द्र स्वरुप पार्क में विधायक ने पानी को लेकर धरना दिया था।

उस दौरान जलकल के अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही पानी की सप्लाई करायी जाएगी। अधिकारियों के झूठे आश्वासन से खफा विधायक ने अब अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गये हैं।

Next Story
Share it