Top
Action India

पढ़ई तुंहर पारा में सेवा के लिए प्रेरकों ने कलेक्टर एवं जिला शिक्षा अधिकारी को सौपा ज्ञापन

पढ़ई तुंहर पारा में सेवा के लिए प्रेरकों ने कलेक्टर एवं जिला शिक्षा अधिकारी को सौपा ज्ञापन
X

कोंडागांव । Action India News

छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा पढ़ई तुंहर पारा मोहल्ला योजना अंतर्गत पारा मोहल्ला में विद्यार्थियों का अध्यापन कराने हेतु युवा बेरोजगार पढ़े-लिखे साक्षर व्यक्ति सहित साक्षर भारत के प्रेरकों को इस कार्यक्रम में जोड़ा गया है।

संघर्षशील प्रेरक पंचायत कल्याण संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश सचिव लखन लाल देवांगन ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि प्रेरक साक्षरता मिशन के माध्यम से लगभग 10 वर्षों तक अल्प मानदेय में साक्षरता का कार्य शासन की सभी जन कल्याणकारी योजनाओं में और बीच-बीच में शिक्षकों के हड़ताल पर जाने पर स्कूल में पढ़ाई का कार्य कराते रहे हैं और 31 मार्च 2018 से साक्षर भारत कार्यक्रम बंद कर इसमें लगे 16,802 प्रेरकों को बेरोजगार कर सेवा से पृथक कर दिया गया।

कोरोना महामारी के कारण आज संपूर्ण विद्यालय बंद है और बच्चों का भविष्य अंधकार में है। इस बात को ध्यान में रखते हुए शासन की सेवा कर अपनी सहभागिता निभाने के लिए प्रदेश सचिव लखन लाल देवांगन के नेतृत्व में सोमवार को कोंडागांव कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा व जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा को ज्ञापन सौंपा ।

ज्ञापन में कहा गया कि अनुभव और सेवा के आधार पर प्रेरकों को जहां भी आवश्यकता हो हम करने के लिए तैयार हैं। इस दौरान कलेक्टर महोदय के द्वारा प्रेरक को मितानिन और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से भी महत्वपूर्ण अंग माना प्रेरक बहुत ही सराहनीय कार्य कर चुके हैं जिसके लिए हमें आवश्यकता पड़ने पर कार्य पर लेंगे। कलेक्टर से मिलने वाले संघ के जिला अध्यक्ष लखन लाल देवांगन व प्रदेश प्रवक्ता मनसुख सेठिया एवं अन्य प्रेरक गण उपस्थित थे।

Next Story
Share it